जानिए अभी लोकसभा चुनाव हुए तो किस पार्टी की बनेगी सरकार

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार को दूसरी बार जीतकर आए हुए एक साल से ज्यादा का वक्त हो गया है। मई 2019 में आए चुनावी नतीजों में बीजेपी के नेतृत्व वाले एनडीए ने धमाकेदार जीत हासिल कर एक बार फिर केंद्र की सत्ता पर कब्जा किया था। तब से अब तक कितना बदला है वोटरों का मिजाज ये जानने की कोशिश की मशहूर न्यूज चैनल आजतक ने। कार्वी इनसाइट्स लिमिटेड के साथ मिलकर इंडिया टूडे ग्रुप ने ‘देश का मिजाज’ नाम से एक खास सर्वे किया जिसके परिणाम चौंकाने वाले रहे।

आज जबकि देश में कोरोना, बेरोजगारी, चीन और अर्थव्यवस्था के मुद्दे पर चौतरफा निराशा छाई हुई है। ऐसे में लोगों का प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ऊपर विश्वास बढा है। 66 प्रतिशत लोगों का मानना है मोदी जी देर-सवेर इन सभी समस्याओं का समाधान ढुंढ लेंगे। ज्यादातर लोगों का मानना है कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में देश इस वक्त सुरक्षित हाथों में है।

लोकसभा चुनाव
Source

कार्वी इनसाइट्स लिमिटेड द्वारा किए गए इस सर्वे के नतीजे से एक बात निकल कर सामने आई कि यदि आज चुनाव हों तो एकबार फिर बीजेपी अपने दम पर बहुमत के जादुई आंकड़े को पार कर लेगी लेकिन इसके बावजूद वह 2019 का प्रदर्शन दोहरा नहीं पाएगी। 2019 के नतीजों की तुलना में न सिर्फ बीजेपी बल्कि एनडीए की सीटें भी घट जाएंगी।

2019 के लोकसभा चुनाव के नजरिए से देखें तो एनडीए को 353 जबकि बीजेपी को अपने दम पर 303 सीटें मिली थी। जबकि सर्वे के मुताबिक अगर आज सभी 543 लोकसभा सीटों पर चुनाव हो तो नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाले एनडीए को 42 फीसदी वोटों के साथ 316 सीटें मिलेंगी जबकि बीजेपी को अकेले दम पर 36 फीसदी वोटों के साथ 283 सीटें हासिल होंगी जो बहुमत के जादूई आंकड़े से 11 ज्यादा है।

लोकसभा चुनाव
Source

हालांकि देखा जाए तो इस तरह से पिछले चुनाव की तुलना में एनडीए की 37 सीटें घटती दिख रही हैं वहीं बीजेपी को भी 20 सीटों का नुकसान होने की संभावना है। इसके अलावा कार्वी इनसाइट्स के सर्वे में सोनिया गांधी के नेतृत्व वाले यूपीए को 27 फीसदी वोटों के साथ 93 सीटें मिलने की संभावना भी बताई गई है।

इसमे भी कांग्रेस को अपने दम पर 19 फीसदी वोट और 49 सीटें हासिल होंगी। इस तरह से कांग्रेस को 2019 के लोकसभा के चुनाव की तुलना में 3 सीटों का नुकसान झेलना पड़ता, हालांकि यूपीए की दो सीटें बढ़ जातीं। बता दें कि कांग्रेस को 2019 में 52 सीटें मिली थीं जबकि यूपीए के खाते में 91 सीटें आई थीं।

इसे भी पढें: MOTN: जनता ने बताया नरेन्द्र मोदी के बाद कौन होगा अगला पीएम

इसके अलावा देश में कई ऐसे राजनीतिक दल भी हैं जो न तो यूपीए और न ही एनडीए का हिस्सा हैं। सर्वे के मुताबिक ऐसे अन्य दलों के खाते में 31 फीसदी वोट के साथ 134 सीटें जा सकती हैं। अन्य दलों में सपा, बसपा, टीएमसी, आम आदमी पार्टी, पीडीपी, एयूडीएफ, आरएलडी, टीआरएस, बीजेडी, वाईएसआर कांग्रेस, टीडीपी सहित तमाम वामपंथी दल शामिल हैं।

हम आपको बताना चाहेंगे कि ‘आजतक’ के लिए कार्वी इनसाइट्स ने यह सर्वे देश के 19 राज्यों के 97 संसदीय और 194 विधानसभा क्षेत्रों में किया। सर्वे 15 जुलाई से 27 जुलाई के बीच किया गया। इस सर्वे में 52 फीसदी पुरुष और 48 फीसदी महिलाओं की राय को शामिल किया गया था। धार्मिक आधार पर ये सैंपल साइज देखा जाए तो 86 फीसदी हिंदू, 9 फीसदी मुस्लिम और पांच फीसदी अन्य धर्मों के लोगों की राय जानी गई।


ऐसी हीं खबर पढते रहने के लिए हमारे न्यूजलेटर को सब्सक्राइब जरूर करें और लगातार अपडेट पाने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल और फेसबुक पेज को लाइक जरूर करें।



इसे भी पढें:

News Source: AAJ TAK

Leave a Reply

India vs Pakistan Live Match Free mein Kaise dekhen | T20 World Cup Live Streaming App धनतेरस पर करें ये 1 उपाए, होने लगेगी धन की बारिश धनतेरस पर भूलकर भी नहीं खरीदनी चाह‍िए ये वस्‍तुएं, होता है अशुभ किडनी खराब होने के लक्षण और उपाय | Kidney Damage Symptoms in Hindi
%d bloggers like this: