शशि कपूर के घर में नही थी किसी भगवान की मूर्ति, जानिए उनके बारे में कुछ अनसुने किस्से

Photo of author

गुजरे जमाने के मशहूर फिल्म अभिनेता पद्म भूषण शशि कपूर अपने मशहूर डायलॉग्स के लिए जाने जाते थे। वे रियल लाइफ में बहुत हीं अच्छे और धार्मिक इंसान थे। मजे की बात ये थी कि धार्मिक होने के बावजूद उनके घर में भगवान की एक भी मूर्ति नही थी। आइये जानते हैं उनके बारे में ऐसे हीं कुछ अनसुने किस्से।

Source

1) शशि कपूर का डेली रूटीन फिक्स रहता था। रोज सुबह उठकर वह सबसे पहले एक गिलास नींबू पानी पीते थे। उसके बाद पका हुआ पपीता खाते थे। जब उनकी पत्नी जेनिफर जिंदा थी तब वही उनका खाना डिसाइड करती थीं। शशि कपूर को खाने में वेज और नॉन-वेज दोनों हीं पसंद था।

2) शशि कपूर को सफेद रंग बहुत पसंद था। यही कारण था कि उनकी सभी गाड़ियां सफेद कलर की होती थी। यहां तक कि उनके घर के पर्दों से लेकर उनके स्टाफ तक को वो व्हाइट ड्रेस में देखना पसंद करते थे। खुद शशि भी सफेद कुर्ता-पैजामा पहनते थे। हालांकि वो पार्टियों में ब्लू कोर्ट-पैँट पहन कर जाते थे।

3) वो पार्टियों में कभी-कभार वाइन पी लिया करते थे लेकिन 1984 में उनकी पत्नी जेनिफर की कैंसर के कारण मौत के बाद बहुत ज्यादा वाइन पीने लगे थे।

4) पत्नी के गम में उन्होने खुद को घर में कैद कर लिया। उसके बाद वो धीरे-धीरे सब कुछ भूलते चले गए। जिन्दगी के आखिरी 10-12 साल उन्होने बीमारी की अवस्था में बेड पर हीं बिताया था।

5) शशि कपूर गरीबों की सेवा करने को हीं सबसे बड़ा धर्म मानते थे। रोज सुबह उनके घर के सामने करीब 20-25 लोग एकजुट हो जाते थे और शशि साहब उन सभी से मिलने के बाद हीं शूटिंग पर जाते थे चाहे शूटिंग कितनी भी अहम क्यों न हो।

6) शशि कपूर सभी धर्मों में विश्वास करते थे। यही कारण था कि उन्होने अपने घर में किसी भी धर्म के ईश्वर की मूर्ति स्थापित नही की थी। वो हमेशा कहते रहते थे कि कोई शक्ति है, जो हम लोगों को चलाता है। उसी से डरिए वही भगवान है।

ये थी शशि कपूर के बारे में कुछ ऐसी बातें जो बहुत कम लोगों को हीं पता है। अगर आपको भी शशि साहब के बारे में कुछ नई बात पता हो तो कमेंट कर के हमे जरूर बताएं। हमारे ऐसे हीं पोस्ट पढने के लिए हमारे न्यूजलेटर को जरूर सब्सक्राइब करें और लगातार अपडेट पाने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल और फेसबुक पेज को लाइक जरूर करें।



इसे भी पढें:

Leave a Reply

%d bloggers like this: