जानिए लोग क्यों मोदी के मन की बात पर उतार रहे हैं अपना गुस्सा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हर महीने के आखिरी रविवार को रेडियो पर मन की बात करते हैं। इस रविवार यानी 30 अगस्त को भी उन्होने अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात (Mann Ki Baat)‘ को संबोधित किया। मगर इस बार सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म यूट्यूब पर दर्शकों के रिएक्शन को देखकर ऐसा लग रहा है कि यह लोगों को पसंद नहीं आया। यही वजह है कि पीएम मोदी के ‘मन की बात’ को यूट्यूब पर लाइक से ज्यादा डिसलाइक किया गया है।

मन की बात

दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम से बने यूट्यूब अकाउंट ‘Narendra Modi’ पर ‘Prime Minister Narendra Modi Mann Ki Baat With nation‘ शीर्षक से वीडियो अपलोडेड है। इस पोस्ट के लिखे जाने तक मन की बात वाले वीडियो पर अभी तक 59 हजार लोगों ने जहां लाइक किया है, वहीं करीब 179 हजार लोगों ने डिस्लाइक किया है। जबकि अब तक इस वीडियो को 10,31,325 व्यूज मिल चुके हैं।

Mann Ki Baat

बात करें, भारतीय जनता पार्टी के ऑफिशियल यूट्यूब चैनल पर लाइक और डिस्लाइक की तो वहाँ बहुत बड़ा अंतर दिख रहा है। यहां पर मन की बात कार्यक्रम को जहां 94 हजार लोगों ने लाइक किया है, वहीं इससे कई गुना अधिक 622 हजार लोगों ने डिस्लाइक किया है। हालांकि, यहां पर इस कार्यक्रम को 2,376,223 व्यूज मिले हैं।

मन की बात

वहीं पीएमओ इंडिया के ऑफिशियल चैनल पर भी मन की बात कार्यक्रम को 43 हजार लाइक और 110 हजार डिसलाइक मिल चुके हैं जबकि कुल 9,68,457 लोगों ने ये वीडियो देखा है। इस चैनल पर तो कमेँट सेक्शन भी बंद है।

इसे भी पढें: जानिए अभी लोकसभा चुनाव हुए तो किस पार्टी की बनेगी सरकार

यानि तीनों चैनल पर ‘मन की बात’ वीडियो के लेटेस्ट आंकड़ों को गौर से देखें तो पता चलता है कि अभी तक 43,76,005 लोगों ने मन की बात वीडियो देखा है जिसमे से 196 हजार लोगों ने वीडियो को लाइक किया है जबकि 911 हजार लोगों ने डिसलाइक किया है।

क्यों उतरा मन की बात पर गुस्सा

अब सवाल ये उठता है कि आखिर लोगों ने लाइक से ज्यादा डिसलाइक क्यों किया है। तो इसका कारण है पिछले कुछ दिनों मे देश में घटित घटनाओं को लेकर लोगों में पीएम के प्रति नाराजगी है। जेईई के एग्जाम को लेकर पिछले कुछ दिनों से चल रहे विरोध-प्रदर्शन भी इसकी एक वजह हैं। कोरोना के कारण जहाँ हर कोई अपने-आप को सुरक्षित रखना चाहता है वहीं सरकार जेईई और नीट के एग्जाम लेने पर अड़ी हुई है।

Neet Jee Exam Postpone
Source

इसके अलावा एसएससी और रेलवे का एग्जाम लेने के बावजूद उसके रिजल्ट में देरी करना भी छात्रों को पसंद नहीं आ रहा है। मन की बात वीडियो का कमेंट सेक्शन देखें तो पता चलता है कि ज्यादातर यूजर्स जेईई और नीट एग्जाम को पोस्टपोन करने की मांग कर रहे हैं।

इसे भी पढें: जानिए सांसदों और विधायकों को प्रतिमाह कितना वेतन मिलता है?

वहीं यूजर्स का एक तबका एसएससी एग्जाम देने के बाद रिक्रूटमेँट प्रोसेस को पूरा करने की मांग कर रहा है जबकि डेढ साल पहले रेलवे के एनटीपीसी एग्जाम का नोटिफिकेशन जारी होने के बाद आज तक एग्जाम नहीं लिए जाने से छात्र नाराज हैं। इसके अलावा सभी छात्र रिजल्ट घोषित करने और बेरोजगारों को रोजगार देने की मांग जोर-शोर से कर रहे हैं।

कमेंट सेक्शन को देखकर साफ पता चल रहा है कि छात्र वर्ग इस वक्त मोदी से अपनी बेहतरी की उम्मीद लगाए हुए था लेकिन मन की बात में इसमे से किसी भी एग्जाम या रोजगार की बात न करके पीएम ने लोगों की दुखती रग को और दबा दिया है। यूट्युब के अलावा ट्विटर पर भी #StudentsDislikePMModi, #SpeakUpForSSCRailwayStudents, #Mann_Ki_Nahi_Students_Ki_Baat #MannKiBaatNhiStudentsKiBaatKro और #आ_रही_है_बेरोजगारो_की_सवारी जैसे हैशटैग ट्रेँड कर रहे हैं।

मन की बात

ऐसे में देखना यह है कि क्या पीएम छात्रों के मन की बात सुनेंगे और एग्जाम पोस्टपोन करके तथा बेरोजगारी के मुद्दे पर कोई ठोस काम करेंगे या फिर छात्रों को उनके हाल पर ही छोड़ देंगे। आपका इस बारे में क्या विचार है कमेँट करके जरूर बताइएगा।


ऐसी हीं खबर पढते रहने के लिए हमारे न्यूजलेटर को सब्सक्राइब जरूर करें और लगातार अपडेट पाने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल और फेसबुक पेज को लाइक जरूर करें।



इसे भी पढें:

Leave a Reply

India vs Pakistan Live Match Free mein Kaise dekhen | T20 World Cup Live Streaming App धनतेरस पर करें ये 1 उपाए, होने लगेगी धन की बारिश धनतेरस पर भूलकर भी नहीं खरीदनी चाह‍िए ये वस्‍तुएं, होता है अशुभ किडनी खराब होने के लक्षण और उपाय | Kidney Damage Symptoms in Hindi
%d bloggers like this: