सबसे ज्यादा समय तक सत्ता में रहने वाले Top 10 मुख्यमंत्री

हाल हीं में दिल्ली में हुए विधानसभा चुनावों में आम आदमी पार्टी की जीत के बाद अरविंद केजरीवाल दिल्ली के तीसरी बार मुख्यमंत्री बने हैं। अगर वो अपना तीसरा टर्म पूरा करेंगे तो उनका नाम उन मुख्यमंत्रियों में शामिल हो जाएगा जिन्होने कम से कम 10 साल किसी राज्य के मुख्यमंत्री के तौर पर अपनी सेवाएं दी हैं। आज हम आपको इस वीडियो में भारत के दस ऐसे मुख्यमंत्रियों के बारे में बताएंगे जिन्होने लगातार लम्बे समय तक बतौर मुख्यमंत्री अपने राज्य की सत्ता में काबिज रहे।

10) तरूण गोगोई

लगातार
Source

असम के 13वें मुख्यमंत्री रहे तरूण गोगोई के नाम लगातार 15 साल 7 दिन तक मुख्यमंत्री पद पर बने रहने का रिकॉर्ड दर्ज है। श्री गोगोई ने 17 मई 2001 को असम के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी और 24 मई 2016 तक इस पद पर बने रहे।

9) रमन सिंह

लगातार
Source

छत्तीसगढ के पूर्व मुख्यमंत्री श्री रमन सिंह इस लिस्ट में नवें स्थान पर हैं। उन्होने 7 दिसंबर 2003 को छत्तीसगढ के दूसरे मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लिया था। उसके बाद वो 2008 और 2013 के विधानसभा चुनाव जीतकर लगातार 17 दिसंबर 2018 तक इस पद पर बने रहें। इस तरह उन्होने कुल 15 साल 10 दिन तक छत्तीसगढ के मुख्यमंत्री रहे।

8) शीला दीक्षित

लगातार
Source

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री श्रीमति शीला दीक्षित इस लिस्ट में आठवें स्थान पर हैं। उन्होने 4 दिसंबर 1998 से 27 दिसंबर 2013 तक लगातार 15 साल 25 दिन दिल्ली की सत्ता संभाली। श्रीमती दीक्षित कांग्रेस पार्टी के उन कुछ नेताओं में से एक हैं जिन्होने लगातार 3 बार मुख्यमंत्री पद की शपथ ली।

इसे भी पढें: दुनिया की 10 सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषाएं

7) मोहन लाल सुखाड़िया

Chief Minister
Source

मोहन लाल सुखाड़िया को आधुनिक राजस्थान का निर्माता कहा जाता है। इन्होंने लगातार 17 वर्ष तक राजस्थान के मुख्यमंत्री पद पर कार्य किया। वे 13 नवम्बर 1954 से 9 जुलाई 1971 तक राजस्थान के मुख्यमंत्री रहे। इसके अलावा बाद में कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु के राज्यपाल भी रहे।

6) यशवंत सिंह परमार

Chief Minister
Source

हिमाचल प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री यशवंत सिंह परमार 18 साल तक सीएम पद पर बने रहे। 8 मार्च 1952 से 31 अक्टूबर 1956 तक वो हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे। उसके बाद हिमाचल को केन्द्रशासित प्रदेश बना दिया गया। 1963 में फिर से चुनाव होने पर श्री परमार फिर से मुख्यमंत्री बने और इस बार उन्होने लगातार 14 सालों तक हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री के तौर पर अपनी सेवाएं दी। इस तरह देखा जाए तो वो लगातार 18 साल तक मुख्यमंत्री पद पर बने रहे।

इसे भी पढें: दुनिया के 10 सबसे सुरक्षित शहर, दिल्ली है इतने नम्बर पर

5) गेगांग अपांग

Chief Minister
Source

अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे गेगांग अपांग 18 जनवरी 1980 से 19 जनवरी 1999 तक यानी लगातार 19 सालों तक यहां की सत्ता संभाली है। अगर उनके 2003 से 2007 के टर्म को भी जोड़ दिया जाए तो यह आंकड़ा लगभग 23 साल का हो जाता है। कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ने वाले गेगांग अपांग ने फरवरी 2014 में पार्टी से इस्तीफा दे दिया और बीजेपी में शामिल हो गए।

4) नवीन पटनायक

Chief Minister
Source

नवीन पटनायक पिछले 20 सालों से ओडिशा के मुख्यमंत्री हैं। उन्होने 5 मार्च 2000 को ओडिशा के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी। बीजू जनता दल (बीजेडी) के अध्यक्ष नवीन पटनायक ने लगातार पाँचवी बार ओडिशा का मुख्यमंत्री बनकर इतिहास के पन्नों में एक नया अध्याय जोड़ दिया। आपको बताना चाहेंगे कि ओडिशा में अब तक किसी भी मुख्यमंत्री ने 14 वर्षों से अधिक समय तक अपनी सेवा नहीं दी है।

इसे भी पढें: कुवैती दिनार से भी महंगी है ये करेंसी, लाखों में मिलती है इसकी कीमत

3) माणिक सरकार

लगातार
Source

माणिक सरकार करीब 11 मार्च 1998 से 4 मार्च 2018 तक त्रिपुरा के मुख्यमंत्री रहे हैं। सीपीआई एम के नेता रहे माणिक सरकार लगातार 20 सालों तक त्रिपुरा की सत्ता में बने रहे और इस तरह वो भारत के उन कुछ चुनिंदा मुख्यमंत्रियों की लिस्ट में शामिल हो गए जिन्होने इतने लम्बे समय तक मुख्यमंत्री का पद संभाला।

2) ज्योति बसु

लगातार
Source

पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री ज्योति बसु ने साल 21 जून 1977 से 5 नवम्बर 2000 तक यानी 23 साल 5 महीने तक तक राज्य में सत्ता संभाली। सीपीआई एम के नेता रहे ज्योति बसु के बारे में कभी ये कहा जाता था कि 1996 में वे भारत के प्रधानमंत्री बनने के बहुत करीब पहुँच गए थे लेकिन उन्होने उस समय तत्कालीन केन्द्र सरकार में शामिल होने से मना कर दिया था।

1) पवन चामलिंग

Chief Minister
Source

पवन कुमार चामलिंग भारत के सिक्किम राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री है। सिक्किम के मुख्यमंत्री के रूप में पवन चामलिंग 24 सालों तक कार्यकाल संभालते रहे। सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट पार्टी की स्थापना करने वाले श्री चामलिंग ने पहली बार 12 दिसंबर 1994 को राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी और 27 मई 2019 तक वो लगातार पांचवीं बार सिक्किम के मुख्यमंत्री बने रहे। इस तरह पवन चामलिंग लगातार 24 साल 5 महीने तक सिक्किम के मुख्यमंत्री रहे हैं।


आपको यह जानकारी कैसी लगी कमेंट कर के जरूर बताइएगा। ऐसी हीं खबर पढते रहने के लिए हमारे न्यूजलेटर को सब्सक्राइब जरूर करें और लगातार अपडेट पाने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल और फेसबुक पेज को लाइक जरूर करें।



इसे भी पढें:

Leave a Reply

India vs Pakistan Live Match Free mein Kaise dekhen | T20 World Cup Live Streaming App धनतेरस पर करें ये 1 उपाए, होने लगेगी धन की बारिश धनतेरस पर भूलकर भी नहीं खरीदनी चाह‍िए ये वस्‍तुएं, होता है अशुभ किडनी खराब होने के लक्षण और उपाय | Kidney Damage Symptoms in Hindi
%d bloggers like this: