दुनिया के सबसे खतरनाक देश इजराइल के रोचक तथ्य

इजराइल (Israel) दुनिया के सबसे छोटे देशों में से एक है, लेकिन इसकी गिनती सबसे शक्तिशाली देशों में होती है। यह एक ऐसा देश है जो चारों तरफ से दुश्मन देशों से घिरा हुआ है और दुश्मन भी ऐसे हैं जो मौका मिलते ही इज़राइल (Israel) को किसी भी तरीके से खत्म कर देना चाहते हैं। इन सबके बावजूद, 1948 में दुनिया के नक्शे पर आया यह देश अपने दुश्मनों के लिए किसी बुरे सपने से कम नहीं है।

इजराइल के लोगों के बारे में कहा जाता है कि वो स्वाभिमानी एवं देशभक्त होते हैं और इन्ही लोगों की देशभक्ति के कारण इजरायल आज अरब देशों की आँखों में आँखें डालकर उनका जवाब देता है। आज हम इजराइल के बारे में कुछ ऐसे रोचक तथ्य जानेंगे जिन्हें आज के समय में आप सभी को पता होना बहुत जरूरी है।


इजराइल के बारे में रोचक तथ्य – Amazing Israel Facts :


इजराइल
Source

1) इजरायल की स्थापना 14 मई 1948 को हुई थी। लम्बे समय के संघर्ष के बाद यहूदियों को फिलिस्तीन के कब्जे से आजादी मिली और एक नए स्वतंत्र राष्ट्र की स्थापना हुई जिसे इजरायल नाम दिया गया।

2) इजरायल शब्द का प्रयोग बाईबल और उससे पहले से होता रहा है। बाईबल के अनुसार ईश्वर के फ़रिश्ते के साथ युद्ध लड़ने के बाद जैकब का नाम इजरायल रखा गया था। इस शब्द का प्रयोग उसी समय से यहूदियों की भूमि के लिए किया जाता रहा है।

3) आधिकारिक तौर पर इजरायल दुनिया का एकमात्र यहूदी देश है और इस देश की एक सबसे खास नीति है कि पूरी दुनिया में किसी भी देश में अगर किसी यहूदी बच्चे का जन्म होता है तो उसे ऑटोमैटिकली इजरायल की नागरिकता मिल जाएगी। यानि पूरी दुनिया में अगर कहीं भी कोई भी यहूदी रहता है तो उसे खुद ब खुद इजरायल की नागरिकता मिल जाती है और वह जब चाहे तब इजरायल में जाकर रह सकता है।

4) इजराइल (Israel) राष्ट्र भाषा हिब्रू है। दोस्तों हमारे देश में हिन्दी बोलने में लोगों को शर्म आती है लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि हिब्रू भाषा का अंत मध्यकाल में ही हो गया था और इस भाषा को सीखने वाला भी कोई नहीं बचा था। लेकिन जब इजरायल की स्थापना हुई तो देशभक्त यहूदीयो ने अपनी भाषा हिब्रू फिर से पुनर्जीवित किया और उसे इजरायल की अधिकारिक भाषा बनाया और इस तरह से इस भाषा का पुनर्जन्म हुआ।

5) 2018 के आंकड़ों के अनुसार, इजरायल (Israel) की कुल जनसंख्या 92 लाख के आस-पास है। देखा जाए तो यह दिल्ली या मुंबई जैसे शहरों की जनसंख्या से भी कम है। वहीं क्षेत्रफल के हिसाब से देखा जाए तो यह भारत के केरल से भी छोटा है।

इसे भी पढें: कुवैत के बारे में कुछ मजेदार रोचक तथ्य

6) इजराइल (Israel) दुनिया का एकमात्र ऐसा देश है जहां के प्रत्येक नागरिक को मिलिट्री ट्रेनिंग लेना अनिवार्य है। इजराइल का प्रत्येक नागरिक चाहे वह देश के प्रधानमंत्री का बेटा ही क्यों न हो, उसे कुछ समय के लिए सेना में काम करना अनिवार्य है। चाहे वो पुरूष हो या महिला हर किसी को इजरायल के सेना में कुछ समय के लिए ट्रेनिंग लेना अनिवार्य है।

6) 15 साल की उम्र से ही इजरायल में बच्चों की आर्मी ट्रेनिंग शुरू हो जाती है। हाई स्कूल की पढाई पूरी करने के बाद उन्हे अनिवार्य रूप से मिलिट्री सर्विस जॉइन करनी पड़ती है। वहाँ लड़कों को 3 साल और लड़कियों को 2 साल सेना में काम करना जरूरी होता है।

7) इजरायल एक लोकतांत्रिक देश है लेकिन फिर भी वहाँ भारत या ब्रिटेन की तरह लिखित संविधान नहीं है। वहाँ पर परम्पराओं और देशवासियों की सुविधाओं के हिसाब से नियम-कानून बनते और बदलते रहते हैं।

8) साइकिल तो आप सभी ने चलाया होगा लेकिन क्या साइकिल चलाने के लिए आपने कभी लाइसेंस बनवाया है? नहीं न? लेकिन इजराइल दुनिया का एकमात्र ऎसा देश है, जहां आपको साइकिल चलाने के लिए भी License बनवाना पडता है।

9) इजरायल दुनिया के उन 9 देशों में से एक है जिसके पास परमाणु हथियार और सेटेलाइट सिस्टम है।

10) इजरायली वायु सेना दुनिया की चौथी सबसे बड़ी और शक्तिशाली वायुसेना है। इजरायली वायुसेना की ताकत का अंदाजा आप इसी से लगा सकते हैं कि 1976 में जब फिलिस्तीनी आतंकवादियों ने 248 पैसेंजर्स से भरे इजरायली प्लेन को हाइजैक करके युगांडा ले गए थे। तब इजरायल सरकार के आदेश पर ऑपरेशन थन्डरबोल्ट (Operation Thunderbolt) जिसे ऑपरेशन एन्तेबे (Operation Entebbe) भी कहा जाता है, चलाया गया। इसमे इजरायली वायु सेना अपने देश से 4000 किलोमीटर दूर युगांडा में घुसकर सिर्फ 90 मिनट में अपने सभी बंधक नागरिकों को सकुशल छुड़ा लाई थी।

इसे भी पढें: सऊदी अरब के बारे में 20 रोचक तथ्य, जो शायद ही आप जानते होंगे

11) यह दुनिया का एकमात्र ऐसा देश है जो पूरा का पूरा एंटी बैलिस्टिक मिसाइल डिफेंस सिस्टम से लैस है। यानि इजरायल की तरफ दागी कोई भी मिसाइल इजरायल पहुँचने से पहले ही नष्ट हो जाएगी।

12) हथियार ही नहीं बल्कि विज्ञान के मामले में भी इजरायल काफी आगे है। मोटोरोला ने अपना पहला मोबाइल फोन इजरायल में ही बनाया था तो माइक्रोसॉफ्ट के लिए पहला पेंटियम चिप भी इजरायल में ही बना था। इतना ही नहीं, पहली वॉइस मेल तकनीक भी इजरायल में ही विकसित की गई थी।

इजराइल
Source

13) महान वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टीन भी यहूदी थे। उन्हे इजरायल का राष्ट्रपति बनने का भी ऑफर दिया गया था लेकिन उन्होने यह कहते हुए इस ऑफर को ठूकरा दिया था कि वो राजनीति के लिए नहीं बने हैं। मशहूर सोशल साइट फेसबुक के संस्थापक मार्क जकरबर्ग भी यहूदी ही हैं।

14) अपनी आजादी के समय इजरायल एक बंजर जमीन का टूकड़ा मात्र था जहाँ न खेती की जा सकती थी और न हीं वहाँ पानी का स्त्रोत था। लेकिन जल्दी हीं टेक्नोलॉजी के दम पर इजरायल खाद्यान्न के मामले में आत्मनिर्भर बन गया। आज के डेट में इजरायल अपनी जरूरत का 93 प्रतिशत खाद्य पदार्थ खुद पैदा करता है। इसके अलावा समुद्र के पानी को साफ करके पीने और दूसरे कामों में प्रयोग करता है।

15) इजरायल में सिर्फ 40 बुक स्टोर ही हैं क्योंकि यहाँ सरकार हर व्यक्ति को किताबें मुहैय्या कराती है। इन सबके अलावा, इजरायल में छपने वाली हर किताब की एक कॉपी जेविश नेशनल यूनिवर्सिटी के लाइब्रेरी में जरूर रखी जाती है।

इसे भी पढें: बिहार के बारे में ये बातें नहीं जानते होंगे आप

16) इजरायल का समुद्र तट सिर्फ 273 किलोमीटर लम्बा है। इसके बावजूद यहाँ 137 ऑफिशियल बीच है।

17) इजरायल की खुफिया एजेंसी मोसाद दुनिया की सबसे खतरनाक इंटेलिजेंस एजेंसी मानी जाती है। मोसाद के बारे में कहा जाता है कि एक बार अगर आप इसकी निगाहों में आ गए तो इसके एजेंट्स आपको पाताल से भी ढूँढ निकालेंगे। 1972 में जर्मनी के म्यूनीख ओलंपिक गेम्स में फिलिस्तीनी आतंकवादियों ने 12 इजरायली खिलाड़ियों की हत्या कर दी थी।

तब तत्कालीन इजरायली प्रधानमंत्री ‘गोल्डा मेयर’ ने ऑपरेशन ब्लैक सेप्टेम्बर (Operation Black September) लॉन्च किया और ‘मोसाद’ को खुली छूट देते हुए कहा था कि एक भी आतंकी जिन्दा नहीं बचना चाहिए। अगले 22 सालों तक मोसाद के एजेंटों ने उस आतंकवादी हमले में शामिल रहे एक आतंकी को खोज-खोज कर मारा था।

18) इजरायल की सैन्य ताकत का अंदाजा आप इसी से लगा सकते हैं कि जून 1967 में जब जार्डन, सीरिया और इराक सहित आधा दर्जन मुस्लिम देशों ने एकसाथ इजरायल पर हमला किया तो उसने पलटवार करते हुए मात्र छह दिनों में इन सभी को बुरी तरह से हराया था। उस हार को अरब देश आज तक नहीं भूले हैं। इतिहास में इस घटना को Six Day War के नाम से जाना जाता है।

इजराइल
Source

19) इजरायल भारत को अपना सच्चा दोस्त मानता है। इसके बावजूद भी 2017 से पहले किसी भी भारतीय प्रधानमंत्री ने इजरायल की यात्रा नहीं की थी। इसके पीछे उनके एक खास वोट बैंक के नाराज हो जाने का डर था लेकिन 2017 में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इजरायल का दौरा करने वाले भारतीय प्रधानमंत्री बने। उनके इस दौरे ने भारत और इजरायल की दोस्ती को और भी ज्यादा मजबूत कर दिया।

20) 2014 से पहले जब हमारे देश में कोई आतंकवादी हमला होता था तब उसकी कड़ी निंदा की जाती थी और फिर डॉजियर सौंपे जाते थे जबकि 1948 से ही इजरायल का एक ही मूल मंत्र रहा है कि अगर किसी ने हमारे देश के एक नागरिक को मारा तो हम उसके देश में घुसकर उसके 1 हजार नागरिक को मार डालेंगे। ऑपरेशन ब्लैक सेप्टेम्बर के बाद इजरायल ने ये करके भी दिखाया है।

इजरायल से सिर्फ 1 साल पहले हमारा देश आजाद हुआ था लेकिन विकास के मामले में आज हम कहाँ हैं और इजरायल कहाँ है ये आप सभी को पता है। हम सभी को भी इजरायली नागरिकों से सीख लेनी चाहिए और अपने देश की तरक्की में पूरा योगदान देना चाहिए।


आपको यह जानकारी कैसी लगी कमेंट कर के जरूर बताइएगा। ऐसी हीं खबर पढते रहने के लिए हमारे न्यूजलेटर को सब्सक्राइब जरूर करें और लगातार अपडेट पाने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल और फेसबुक पेज को लाइक जरूर करें।



इसे भी पढें:

Leave a Reply

India vs Pakistan Live Match Free mein Kaise dekhen | T20 World Cup Live Streaming App धनतेरस पर करें ये 1 उपाए, होने लगेगी धन की बारिश धनतेरस पर भूलकर भी नहीं खरीदनी चाह‍िए ये वस्‍तुएं, होता है अशुभ किडनी खराब होने के लक्षण और उपाय | Kidney Damage Symptoms in Hindi
%d bloggers like this: