दुनिया के सबसे ताकतवर राजनेता, नम्बर 1 का नाम चौकाने वाला

दुनिया में हर व्यक्ति का अपना-अपना पसंदीदा नेता होता है और वह व्यक्ति अपने उस नेता को, उस लीडर को हमेशा टॉप पर देखना चाहता है। भारत में अक्सर चाय या पान की दुकानों पर लोग अक्सर राजनीति की बातें करते हैं और अपने-अपने पसंदीदा राजनेता की तारीफें करते हुए बड़ा बताते हैं। लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि ये सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में होता है और अब तो इस बहस मे बड़ी-बड़ी कंपनियां भी उतर आई हैं।

फोर्ब्स, ब्रिटिश हेराल्ड, द न्यूयॉर्क टाइम्स, मर्सर जैसी कंपनियां भी इस तरह के ऑनलाइन सर्वे कराती हैं और उसमे मिले वोटों के आधार पर दुनिया के ताकतवर राजनेता (Powerful Leaders) की लिस्ट जारी करती हैं। आज हमारा ये पोस्ट ब्रिटेन की मैगजीन ब्रिटिश हेराल्ड द्वारा किए गए सर्वे पर आधारित है। ब्रिटिश हेराल्ड ने जून 2019 में विश्व स्तर पर एक सर्वे किया था जिसमे दुनिया की 25 से ज्यादा हस्तियों को शामिल किया गया था और उसमे मिले वोटों के आधार पर ब्रिटिश हेराल्ड ने दुनिया के 4 सबसे पॉवरफुल लीडर की लिस्ट जारी की थी।

दुनिया के सबसे ताकतवर शख्स का चुनाव करने के लिए बहुत ही खास प्रक्रिया अपनाई गई थी। इस सर्वे में शामिल लोगों को इस वेबसाइट पर आईडी बनानी पड़ती थी। उसके बाद उनके मोबाईल नम्बर पर ओटीपी यानि वन टाइम पासवर्ड भेजा जाता था। इसका मकसद ये था कि कोई भी व्यक्ति एक से ज्यादा बार किसी भी नेता के लिए वोट नहीं कर सकेगा। फिर भी हैरानी की बात ये थी कि वोटिंग के दौरान साइट क्रैश हो गई, क्योंकि वोट करने के लिए ज्यादा से ज्यादा लोगों ने इस सर्वे में बढ चढ कर हिस्सा लिया था। आइए जानते हैं उस लिस्ट में कौन सा लीडर टॉप पर था।


दुनिया के सबसे ताकतवर राजनेता


4) शी जिनपिंग (Xi Jinping)

पॉवरफुल राजनेता
Source

ताकतवर राजनेता की इस लिस्ट में 18.1 प्रतिशत वोट के साथ चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग को चौथा स्थान मिला था। जिनपिंग 2013 में दुनिया की सबसे ज्यादा आबादी वाले देश चीन के राष्ट्रपति बने थे। उसके बाद उन्होने 2018 में संविधान में संशोधन करके अपने पॉवर और अपने शासन की अवधि को बढा लिया था। 66 वर्षीय जिनपिंग ने चीन में कई सारे सुधारों पर ज्यादा जोर दिया। उनके टर्म की सबसे खास बात ये रही कि उन्होने अपने देश की प्राईवेट कंपनियों को चीन से बाहर अपनी जड़ें जमाने में भरपूर मदद की जिसका नतीजा ये हुआ कि चीन बहुत तेजी से तरक्की करते हुए दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी जीडीपी वाला देश बन गया।

3) डॉनल्ड ट्रम्प (Donald Trump)

पॉवरफुल राजनेता
Source

दुनिया के सबसे ताकतवर देश माने जाने वाले संयुक्त राज्य अमेरिका के वर्तमान राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प को इस लिस्ट में तीसरा स्थान मिला है। ट्रंप को पूरी दुनिया से 21.9 प्रतिशत वोट मिले। ट्रम्प राष्ट्रपति बनने से पहले एक बिजनेसमैन थे और जून 2019 तक उनकी कुल सम्पति $3.1B थी। इसके अलावा वह अमेरिका के पहले बिलियनरी राष्ट्रपति भी हैं।

हालांकि ट्रम्प के कार्यकाल में उन्हे नापसंद करने वालों की संख्या में इजाफा हुआ है लेकिन उन्होने अमेरिका के हितों के मद्देनजर कुछ खास काम को अंजाम भी दिया है जैसे अमेरिका से आउटसोर्सिंग को कम करना जिससे वहां जॉब्स क्रिएट हुए हैं। मैक्सिको बॉर्डर पर दीवार बनवाना जिससे अवैध शरणार्थियो की संख्या में कमी आई है।

इसे भी पढें: कुवैत के बारे में कुछ मजेदार रोचक तथ्य

2) व्लादिमीर पुतिन (Valdimir Putin)

पॉवरफुल राजनेता
Source

क्षेत्रफल के हिसाब से दुनिया के सबसे बड़े देश रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को इस सर्वे में दूसरा स्थान मिला है। उन्हे कुल 29.9 प्रतिशत वोट मिले। पुतिन को 2013 से 2016 तक लगातार चार साल दुनिया का सबसे पॉवरफुल लीडर चुना गया था। 67 वर्षीय पुतिन ने 16 वर्षों तक सोवियत रूस की खुफिया एजेंसी केजीबी में इंटेलिजेस ऑफिसर के तौर पर काम किया था।

उसके बाद वो राजनीति में आए और फिर सन 2000 से 2008 तक रूस के राष्ट्रपति के पद पर रहे। हालांकि 2012 में वह फिर से राष्ट्रपति चुने गए। उनके कार्यकाल के दौरान रूस की जीडीपी में 72 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई, साथ ही उन पर मानवाधिकार के उल्लंघन के आरोप भी लगे। हालांकि पुतिन ने अपने ऊपर लगे आरोपों को सिरे से नकार भी दिया।

1) नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi)

Powerful Leader
Source

ताकतवर राजनेता की इस लिस्ट में पहला स्थान मिला है भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी को। इस सर्वे में उन्हे 30.9 प्रतिशत वोट मिले। वोटिंग के दौरान लोगों ने अपने रिमार्क्स में उन्हे फेमस ग्लोबल लीडर भी बताया। पीएम मोदी द्वारा शुरू की गई स्कीम जैसे आयुष्मान भारत, उज्जवला और स्वच्छ भारत जैसी योजनाओं की लोगों ने तारीफ की।

हालांकि कुछ लोगों ने भारत में बढती बेरोजगारी और नोटबंदी जैसे मुद्दों पर रिमार्क में लिखते हुए पीएम मोदी को कटघरे में भी खड़ा किया। बहरहाल जो भी हो, अमेरिका में हाउडी मोदी प्रोग्राम के बाद इसमे कोई शक नहीं रह गया है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी वर्ल्ड लीडर हैं। भले ही वो नम्बर 1 हो या न हो, लेकिन अगर वो भारत का नाम ऊँचा कर रहे हैं तो सभी भारतीयों के लिए वो नम्बर 1 ही रहेंगे।

आपकी नजर में नम्बर 1 पर किसे होना चाहिए था कमेन्ट कर के जरूर बताइएगा।


ऐसी हीं खबर पढते रहने के लिए हमारे न्यूजलेटर को सब्सक्राइब जरूर करें और लगातार अपडेट पाने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल और फेसबुक पेज को लाइक जरूर करें।



इसे भी पढें:

Leave a Reply

India vs Pakistan Live Match Free mein Kaise dekhen | T20 World Cup Live Streaming App धनतेरस पर करें ये 1 उपाए, होने लगेगी धन की बारिश धनतेरस पर भूलकर भी नहीं खरीदनी चाह‍िए ये वस्‍तुएं, होता है अशुभ किडनी खराब होने के लक्षण और उपाय | Kidney Damage Symptoms in Hindi
%d bloggers like this: