भारत में 10 सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषाएं, नम्बर 2 का नाम चौकाने वाला

भाषा इंसानों को आपस में जोड़ने का काम करती है। यह आपस में संवाद करने और संबंधों को विकसित करने का काम करती है। सिर्फ मनुष्य ही नहीं बल्कि पशु-पक्षी भी आपस में संवाद करते हैं, एक-दूसरे से बातें करते हैं। अगर सिर्फ इंसानी दुनिया की बात करें तो पूरे विश्व में लगभग 6800 से भी ज्यादा भाषाएं बोली जाती हैं।

वहीं बात करें भारत की तो हमारे देश में 121 प्रमुख भाषाएं हैं जिन्हे कम से कम 10 हजार या उससे ज्यादा लोग बोलते हैं। वहीं हजारों ऐसी भाषाएं भी हैं जिन्हे बोलने वालों की संख्या 100 से 10 हजार तक है। आज हम आपको भारत में सबसे अधिक बोली जाने वाली 10 प्रमुख भाषाओं के बारे में बताएंगे।


Top 10 Languages of India


10) ओड़िया (Odia)

राजभाषा
Source

ओड़िया जिसे उड़िया भी कहा जाता है मुख्य रूप से ओड़िशा की आधिकारिक राजभाषा है। ओड़िया लिपि का विकास ब्राह्मी लिपि से हुआ है। यह मुख्य रूप से इंडो-आर्य भाषा परिवार का सदस्य है। ओड़िया, ओड़िशा के अलावा पश्चिम बंगाल और झारखंड के कुछ इलाकों में भी बोली जाती है। पूरे देश में ओड़िया भाषी लोगों की संख्या लगभग 4 करोड़ 30 लाख है।

9) कन्नड़ (Kannad)

राजभाषा
Source

इस लिस्ट में नवे नम्बर पर है कन्नड़ भाषा। यह मुख्य रूप से कर्नाटक राज्य की राजभाषा है। यह भारत की उन 22 भाषाओं में से एक है जो भारतीय संविधान की आठवीं अनुसूची में सम्मिलित है। भारत में लगभग 5 करोड़ 90 लाख लोग बोलचाल में प्रथम, द्वितीय और तृतीय भाषा के रूप में कन्नड़ भाषा का प्रयोग करते हैं। इसके अलावा एन्कार्टा के अनुसार, विश्व की सर्वाधिक बोली जाने वाली 30 भाषाओं की सूची में कन्नड़ 27वें स्थान पर आती है। भारत सरकार ने कन्नड़ को भी भारत की एक शास्त्रीय भाषा (क्लासिकल लैंगवेज) घोषित किया हुआ है।

इसे भी पढें: अमेरिका के बारे में रोचक तथ्य | America Facts in Hindi

8) गुजराती (Gujarati)

राजभाषा
Source

गुजरात की आधिकारिक भाषा गुजराती को पूरे भारत में लगभग 6 करोड़ लोगों द्वारा बोली जाती है। गुजराती भाषा संस्कृत से विकसित हुई है। महात्मा गांधी, सरदार वल्लभ भाई पटेल, डॉ भीमराव अम्बेडकर, धीरू भाई अंबानी और वर्तमान प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की मातृभाषा भी गुजराती ही है।

7) उर्दू (Urdu)

Languages
Source

भारत में लगभग 6 करोड़ 30 लाख उर्दू भाषी हैं जिनमे से 5 करोड़ 7 लाख लोग उर्दू को प्रथम भाषा के तौर पर प्रयोग करते हैं जबकि 1 करोड़ 23 लाख लोग इसे दूसरी और तीसरी भाषा के तौर पर प्रयोग करते हैं। उर्दू देश की आधिकारिक भाषाओं में से एक है। पश्चिम बंगाल, बिहार, उत्तर प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, तेलंगाना और झारखंड राज्यों में उर्दू एक आधिकारिक भाषा के रूप में सूचीबद्ध है।

इसे भी पढें: बाघ के बारे में 25 रोचक तथ्य | Tiger Information in Hindi

6) तमिल (Tamil)

Language
Source

तमिल भाषा को द्रविड़ भाषा परिवार की सबसे प्राचीनतम भाषा माना जाता है। हालांकि इस भाषा की उत्पति के संबंध में अभी तक विद्वान एकमत नहीं हो सके हैं लेकिन फिर भी इसे कम से कम 3000 साल पुरानी भाषा माना जाता है। हमारे देश में तमिल भाषी लोगों की संख्या लगभग 7 करोड़ 70 लाख है। इसके अलावा यह भाषा सिंगापुर और श्रीलंका दोनों की आधिकारिक भाषा है।

5) तेलुगु (Telugu)

Languages
Source

तेलुगु भी द्रविड़ भाषा परिवार का सदस्य है जो भारत में व्यापक रूप से देश के कई राज्यों में बोली जाती है। यह भाषा मुख्य रूप से आंध्रप्रदेश और तेलंगाना इत्यादि राज्यों में बोली जाती है। भारत में 8 करोड़ 11 लाख लोग तेलुगु को प्रथम भाषा के तौर पर बोलते हैं जबकि सेकंड और थर्ड लैंग्वेज के तौर पर भी इसे जोड़ लिया जाए तो कुल 9 करोड़ 50 लाख लोग तेलुगु बोलते हैं। इसके अलावा संयुक्त राज्य अमेरिका, यूनाइटेड किंगडम, न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रेलिया, संयुक्त अरब अमीरात और दक्षिण अफ्रीका समेत कई देशों में भी यह भाषा बोली जाती है।

इसे भी पढें: कुवैती दिनार से भी महंगी है ये करेंसी, लाखों में मिलती है इसकी कीमत

4) मराठी (Marathi)

राजभाषा
Source

महाराष्ट्र की आधिकारिक राजभाषा मराठी भी एक आर्य भाषा है। यह महाराष्ट्र और गोवा की राजभाषा है तथा पश्चिम भारत की सह-राज्यभाषा है। मातृभाषियों कि संख्या के आधार पर मराठी विश्व में दसवें और भारत में चौथे स्थान पर है। यह भाषा 2300 सालों से अस्तित्व में है। इसे बोलने वालों की कुल संख्या लगभग 10 करोड़ है।

3) बंगाली (Bengali)

https://image.slidesharecdn.com/marathi2-151014214249-lva1-app6891/95/marathi-language-basics-chapter-2-for-foreigner-and-basic-learners-1-638.jpg?cb=1444859116
Source

भारत की तीसरी सबसे ज्यादा बोलने वाली भाषा बंगाली है, जिसे 10 करोड़ 70 लाख नागरिकों द्वारा बोली जाती है यानी कुल जनसंख्या का 8.3 प्रतिशत। बंगाली एक भारतीय-आर्यन भाषा है जो ज्यादातर दक्षिण एशिया में बोली जाती है। भारत के पूर्वोत्तर क्षेत्रों में अंडमान और निकोबार द्वीप समेत अधिकांश राज्यों में यह सबसे प्रमुख भाषा है। बंगाली भारत के पश्चिम बंगाल, झारखंड, असम और त्रिपुरा इत्यादि राज्यों में प्रमुख तौर पर बोली जाती है।

इसे भी पढें: दुनिया के 5 सबसे कीमती तरल पदार्थ, नम्बर 1 है चौंकाने वाला

2) अंग्रेजी (English)

English Languages
Source

हिंदी के साथ, अंग्रेजी भाषा भारत की संघीय सरकार की आधिकारिक भाषाओं में से एक है। जबकि भारत के कुछ राज्यों जैसे नागालैंड और अरुणाचल प्रदेश में अंग्रेजी एक आधिकारिक भाषा है। हालांकि अंग्रेजी एक विदेशी भाषा है लेकिन अब इसे सामान्य बोलचाल की भाषा के तौर पर भी प्रयोग किया जाने लगा है।

ज्यादातर भारतीय अंग्रेजी, हिंदी और एक मातृभाषा बोल सकते हैं। हालांकि भारत में प्रथम भाषा के तौर पर अंग्रेजी बोलने वालों की संख्या महज 2 लाख 60 हजार है जबकि इसे सेकंड और थर्ड लैंग्वेज के तौर पर करोड़ों लोग बोलते हैं। कुल मिलाकर भारत में अंग्रेजी बोलने वालों की संख्या 12 करोड़ 90 लाख है।

1) हिन्दी (Hindi)

Hindi Languages
Source

इस लिस्ट में पहले स्थान पर है भारत की राजभाषा हिन्दी। हममे से अधिकतर लोग हिन्दी को राष्ट्रभाषा मानते हैं लेकिन असल में हमारे देश की कोई राष्ट्रभाषा नहीं है। हिन्दी को राजभाषा का दर्जा दिया गया है। यह भारत की सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा है। इसे प्रथम भाषा के तौर पर लगभग 52 करोड़ 83 लाख लोग बोलते हैं जबकि दूसरी और तीसरी भाषा के तौर पर बोलने वाले लोगों की संख्या को जोड़ लिया जाए तो भारत में कुल 69 करोड़ 20 लाख लोग हिन्दी बोलते हैं।

इतना ही नहीं हिन्दी, मंदारिन और अंग्रेजी के बाद विश्व की तीसरी सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा है। भारत में हिन्दी सबसे ज्यादा बिहार, छत्तीसगढ़, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश और दिल्ली में बोली जाती है।

आपको यह जानकारी कैसी लगी? आपकी मातृभाषा कौन सी है इस बारे में कमेंट कर के जरूर बताइएगा।


ऐसी हीं खबर पढते रहने के लिए हमारे न्यूजलेटर को सब्सक्राइब जरूर करें और लगातार अपडेट पाने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल और फेसबुक पेज को लाइक जरूर करें।



इसे भी पढें:

Leave a Reply

India vs Pakistan Live Match Free mein Kaise dekhen | T20 World Cup Live Streaming App धनतेरस पर करें ये 1 उपाए, होने लगेगी धन की बारिश धनतेरस पर भूलकर भी नहीं खरीदनी चाह‍िए ये वस्‍तुएं, होता है अशुभ किडनी खराब होने के लक्षण और उपाय | Kidney Damage Symptoms in Hindi
%d bloggers like this: