क्या आप जानते हैं TRAIN पर लिखे इन नम्बरों का मतलब, अगर नही तो जानिए

आप सभी ने अपने जीवन में कभी न कभी ट्रेन से सफर जरूर किया होगा। कुछ लोग अपने दफ्तर जाने के लिए रोज ट्रेन में सफर करते हैं तो कुछ लोग कभी-कभी हीं ट्रेन में बैठते हैं। जो लोग हमेशा ट्रेन में सफर करते हैं उनलोगों ने एक बात जरूर नोटिस की होगी कि हर ट्रेन पर कुछ नम्बर लिखे होते हैं। कई बार हम किसी ट्रेन को उसके नाम से या नम्बर से भी जानते हैं हालांकि ये अलग बात है कि किसी ने इन नंबरों पर ज्यादा ध्यान नही दिया होगा या उनका मतलब जानने की कोशिश नही की होगी।

ट्रेन का नम्बर
Source

आपको बता दें कि इन नम्बरों के पीछे बहुत बड़ा कारण होता है जिसे जानकर आप हैरान रह जाएंगे। ट्रेन के इन नम्बरों के बारे में बहुत कम लोगों को हीं जानकारी होगी। ट्रेन किस जोन और डिविजन की है, ट्रेन की कैटेगरी क्या है, ये सारी बातें उस ट्रेन पर लिखे 5 अंकों के नंबर से पता लग सकती हैं। हैरान हो गए न? आइये जानते हैं ट्रेन के नम्बरों का रहस्य।

1) अगर ट्रेन के नम्बर का पहला अंक जीरो से शुरू होता है तो इसका मतलब वह स्पेशल ट्रेन है जैसे समर स्पेशल या पूजा स्पेशल ट्रेन इत्यादि।

2) अगर ट्रेन का नम्बर 1 या 2 से शुरू होता है तो इसका मतलब वो लम्बी दूरी की एक्सप्रेस ट्रेन है।

3) तीन से शुरू होने वाले नम्बर कोलकाता सब अर्बन ट्रेन के बारे में बताते हैं।

4) चार से शुरू होने वाले ट्रेन नम्बर नई दिल्ली, चेन्नई, सिकंदराबाद और अन्य मेट्रो शहरों के बारे में बताते हैं।

5) नंबर 5 कन्वेंशनल कोच वाली पैसेंजर ट्रेन को दर्शाता है।

6) अगर किसी ट्रेन का शुरुआती अंक 6 है तो इसका मतलब वो मेमू ट्रेन है।

7) डीएमयू ट्रेन के लिए नंबर 7 का प्रयोग होता है।

8) नंबर 8 मौजूदा समय में ट्रेन की आरक्षित स्थिति के बारे में बताता है।

9) नंबर 9 मुंबई क्षेत्र की सब-अर्बन ट्रेनों के लिए प्रयोग किया जाता है।


इसे भी पढें: क्या आप जानते हैं ट्रेन के आखिरी बोगी पर लिखे ‘X’ के निशान का मतलब

ट्रेन नंबर के अन्य अंकों का मतलब

ट्रेन का नम्बर
Source

ट्रेन नंबर के दूसरे और उसके बाद के अंकों का मतलब उसके पहले अंक के अनुसार ही तय होता है। किसी ट्रेन का पहला अंक 0, 1 और 2 है तो बाकी के चार अंक रेलवे जोन और डिवीजन को बताते हैं। जानिए किस जोन का क्या है नंबर।

0 नंबर- कोंकण रेलवे

1 नंबर- सेंट्रल रेलवे, वेस्ट-सेंट्रल रेलवे, नॉर्थ सेंट्रल रेलवे

2 नंबर- सुपरफास्ट, शताब्दी, जन शताब्दी तो दर्शाता है। इन ट्रेन के अगले डिजिट जोन कोड को दर्शाते हैं।

3 नंबर- ईस्टर्न रेलवे और ईस्ट सेंट्रल रेलवे

4 नंबर- नॉर्थ रेलवे, नॉर्थ सेंट्रल रेलवे, नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे

5 नंबर- नैशनल ईस्टर्न रेलवे, नॉर्थ ईस्ट फ्रंटियर रेलवे

6 नंबर- सदर्न रेलवे और सदर्न वेस्टर्न रेलवे

7 नंबर- सदर्न सेंट्रल रेलवे और सदर्न वेस्टर्न रेलवे

8 नंबर- सदर्न ईस्टर्न रेलवे और ईस्ट कोस्टल रेलवे

9 नंबर- वेस्टर्न रेलवे, नार्थ वेस्टर्न रेलवे और वेस्टर्न सेंट्रल रेलवे

यह है ट्रेन नंबर को समझने का तरीका

ट्रेन का नम्बर
Source

मान लीजिए गाड़ी का नंबर 12114

1- आपकी ट्रेन लंबी दूरी की है।

2- आपकी ट्रेन सुपरफास्ट है।

1- सेंट्रल रेलवे, वेस्ट-सेंट्रल रेलवे, नॉर्थ सेंट्रल रेलवे में से कहीं की है।

14 अप गाड़ी का नंबर है। इसी तरह वापसी में इस गाड़ी का नंबर 13 हो जाएगा।

आपको यह जानकारी कैसी लगी, इस बारे में कमेंट कर के जरूर बताइयेगा। हमारे इस तरह के न्यूज पढने के लिए हमे सब्सक्राइब जरूर करें।



इसे भी पढें:

loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *