पढिए अगर ये समीकरण सही रहा तो रामनाथ कोविंद हीं होंगे अगले राष्ट्रपति

अगले महीने होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के लिए एनडीए के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद के सामने कांग्रेस ने पूर्व लोकसभाध्यक्ष मीरा कुमार को खड़ा किया है। हालांकि उम्मीदवार के नाम पर विपक्ष दो धड़ों बँट गया है। बिहार में महागठबंधन में शामिल जद(यू) ने रामनाथ कोविंद को समर्थन देने का ऐलान कर दिया है। इस बात को लेकर महगठबंधन में दरार पड़नी शुरू हो गई है।

इसे भी पढें: बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद को बीजेपी ने बनाया राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार

क्या है समीकरण?

जद(यू) के अलावा बीजेडी, एआईएडीएमके, टीआरएस, वाईएसआर कांग्रेस जैसी कुछ बड़ी पार्टियों ने भी NDA के उम्मीदवार को समर्थन देकर इस चुनाव को एकतरफा बना दिया है। संसद के दोनों सदनों के मिलाकर कुल 776 सांसद हैं जिनमे से 524 सांसदों का समर्थन कोविंद को प्राप्त है। इन 524 में से 337 सांसद अकेले बीजेपी के हीं है। जबकि मीरा कुमार को 235 सांसदों ने समर्थन दिया है।

Ramnath Kovind
Image source: Google

एक सांसद का मत 708 मतों के बराबर होता है। इस हिसाब से देखा जाए तो कोविंद को सांसदो का 3,70,992 वोट मिलेगा वहीं मीरा कुमार को सांसदों का 1,66,380 मत मिलेगा। विधायकों की बात करें तो एक विधायक का मत मूल्य 208 मत होता है। उस हिसाब से देखा जाए तो कर्नाटक, केरल, पंजाब, त्रिपुरा, हिमाचल प्रदेश, और पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों को छोड़कर लगभग सभी जगह बीजेपी या बीजेपी के अलायंस की सरकार है।

रामनाथ कोविंद
Image Source: Google

इस तरह राष्ट्रपति पद के लिए कुल वोट 10,98,903 है जिसमे से रामनाथ कोविंद को 6,82,677  वोट मिलने की संभावना है यह कुल वोट का 62 प्रतिशत है जबकि मीरा कुमार को 3,76,261 वोट मिलने की उम्मीद है। वर्तमान राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी को 69 प्रतिशत वोट मिले थे। इन सभी आंकड़ों को देखा जाए तो यही लगता है कि एनडीए के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद आसानी से राष्ट्रपति पद का चुनाव जीत रहे हैं।

इसे भी पढें:

loading…


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *