कभी नौकरी देने से किया था इंकार, आज हरमनप्रीत कौर को दिया DSP बनने का ऑफर


आईसीसी महिला विश्व कप में अपने बल्ले से धमाल मचाने वाली हरमनप्रीत कौर को पंजाब सरकार ने पुलिस में डीएसपी की नौकरी का ऑफर दिया है। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने हरमन के प्रदर्शन की तारीफ करते हुए उन्हे 5 लाख रूपये नकद और पंजाब पुलिस में नौकरी देने की घोषणा की।



6 साल पहले किया था मना

आज से 6 साल पहले जब हरमनप्रीत को नौकरी की सख्त जरूरत थी तब पंजाब सरकार ने उनकी अर्जी को ठुकरा दिया था। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने तो यहाँ तक कह दिया था कि, “वह कोई हरभजन सिंह थोड़े न है कि उसे डीएसपी बना दें।” लेकिन पंजाब सरकार ने डीएसपी तो क्या इंस्पेक्टर भी नही बनाया।

हरमनप्रीत कौर
Image Source: Google

जिस वक्त यह सब हुआ था उस वक्त हरमनप्रीत को देश की तरफ से खेलते हुए 2 साल हो चुके थे। हरमनप्रीत के पिताजी याद करते हुए कहते हैं कि, “2009 से हरमनप्रीत भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व कर रही हैं लेकिन किसी भी राजनीतिक पार्टी का सदस्य हमारे घर नहीं आया। अकाली दल या कांग्रेस सरकार कम से कम इतना तो कर ही सकते थे कि हरमन को नौकरी दे देते।”


इसे भी पढें: बैडमिंटन: किदांबी श्रीकांत ने चीनी खिलाड़ी को हरा कर जीता ऑस्ट्रेलियन ओपन सुपरसीरिज

हालांकि बाद में हरमनप्रीत को पश्चिम रेलवे में नौकरी मिल गई लेकिन इसके लिए भी भारत में क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदूल्कर की सिफारिश से मिली। सचिन ने राज्यसभा सांसद की हैसियत से रेलमंत्री को को पत्र लिख कर हरमनप्रीत को नौकरी देने की सिफारिश की थी।


हरमनप्रीत कौर
Image Source: Amar Ujala

आखिर ऐसा क्यूँ होता है कि हमारे देश में इतनी प्रतिभाओं के होते हुए कोई भी बढिया खिलाड़ी आगे नही आ पाता। इसका सीधा कारण ये नेता है जो अच्छे पदों पर अपने सगे-संबंधियों को बैठाते हैं और जब कोई जरूरतमंद उनसे अपना हक माँगता है तो उसे दुत्कार कर भगा देते हैं। वहीं जब खिलाड़ी अपने प्रदर्शन से देश का मान बढाता है तो यही नेता अपने वोटबैंक में इजाफे के लिए उस खिलाड़ी को पैसा और नौकरी देने की घोषणा करते हैं।

इसे भी पढें: ये है आईपीएल के इतिहास के 10 बड़े टीम स्कोर, जानिए कौन है नम्बर वन पर

आखिर कब तक ऐसा चलता रहेगा? कब तक देश का सम्मान बढाने वाले खिलाड़ियों को एक अदद नौकरी के लिए दर-दर भटकना पड़ेगा? हरमन अभी रेलवे में नौकरी कर रही हैं इसलिए अच्छा होगा कि वो पंजाब सरकार को 6 साल पहले की घटना को याद दिलाते हुए उनके द्वारा दिए गए डीएसपी पद के ऑफर को ठूकरा दें। यही इन नेताओं के लिए सबक होगा।

इसे भी पढें:

loading…



Leave a Reply