लगातार 9 वर्षों से टॉप 10 में अपना जगह बनाता बिहार का ये अनोखा कॉलेज

हर एक स्टूडेंट्स का सपना होता है कि वो अच्छे से पढ़ाई करते हुए परीक्षा में अच्छे नंबरों से पास होने के साथ-ही-साथ पूरे बोर्ड में टॉप रैंक पर आये। लेकिन ये सपना सभी का पूरा नहीं होता बल्कि सिर्फ उन्हीं स्टूडेंट्स का पूरा हो पाता है जो गलत कामों से दूर रहते हुए पढ़ाई में अच्छे से मेहनत करते हैं। जो छात्र पढ़ाई से बचते हैं और अपना अधिकाँश समय मौज-मस्ती में ही गुजार देते हैं वो बड़े ही मुश्किल से अच्छा नंबर ला पाते हैं।

किसी ख़ास एग्जाम  बोर्ड के लिए ये कह पाना मुश्किल ही नहीं बल्कि लगभग नामुमकिन होता है कि उस बोर्ड के किस कॉलेज के स्टूडेंट टॉपर होंगे। ऐसा इसलिए क्योंकि सफलता किसी ख़ास कॉलेज की मोहताज नहीं होती। यदि कोई छात्र किसी छोटे-से कॉलेज से भी मन लगाकर तैयारी करे तो वो भी टॉपर बन सकता है और अपने कॉलेज का नाम रोशन कर सकता है।

Top Collage begusarai bihar proud

लेकिन इन सभी बातों को मात देते हुए बिहार एक ऐसा राज्य है जहाँ इंटर में टॉप आने वाले एक कॉलेज का नाम पहले से ही तय होता है। जी हाँ, हम बात कर रहे हैं बिहार राज्य के ही एक कॉलेज MRJDI ( एम. आर. जे. डी. आई. ) की। ये कॉलेज बिहार में बेगूसराय जिले के विष्णुपुर इलाके में है। इसकी स्थापना 1980 में की गयी थी और इसका पूरा नाम “महंत राम जीवन दास इंटर कॉलेज विष्णुपुर बेगूसराय” है। इस कॉलेज के छात्र लगातार 9 वर्षों से BSEB बोर्ड से इंटर के एग्जाम में टॉप 10 में अपना स्थान बनाते आ रहे हैं।


हमारे इस न्यूज़ को पढना न भूलें: CBSE 10th का रिजल्ट घोषित, गुवाहाटी और दिल्ली के छात्र फिसड्डी

हालांकि शुरू से ही ये कॉलेज टॉप 10 में अपना स्थान बनाता आ रहा है। लेकिन 2017 के इंटर के रिजल्ट के घोषित होने के साथ ही इसने लगातार 9 वर्षों तक टॉप 10 में स्थान बनाने का एक नया रिकॉर्ड बना लिया है। 2009 से लेकर लगातार अब तक इसके स्टूडेंट टॉप 10 में अपना स्थान बनाते आ रहे हैं जो कि अपने-आप में एक मिसाल है। साथ ही ये भी बता दें कि बीते किसी साल में ही हमारे देश के राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने इसके कुछ स्टूडेंट्स को सम्मानित भी किया था।


हमारे इस न्यूज़ को भी जरूर पढ़ें: चैम्पियन्स ट्रॉफी में भारत और पाकिस्तान के बीच महामुकाबला आज, सारी तैयारियां पूरी

क्या है इस कॉलेज के सफलता की मुख्य वजह ?

हालांकि सफलता का कोई शॉर्टकट नहीं होता है लेकिन यदि बात करें MRJD कॉलेज की तो इसके सभी स्टूडेंट्स भी उतने ही कठिन परिश्रमी होते हैं जितने उनके सभी शिक्षक। दरअसल इसके सफलता की मुख्य वजह लोग इस बात को भी मानते हैं कि यहाँ इंटर में नामांकन के लिए शर्त ही बहुत ठोस होते हैं जिसे कि सिर्फ परिश्रमी स्टूडेंट्स ही पास कर पाते हैं।

हमारे इस न्यूज़ को भी जरूर पढ़ें: पत्नी अपने पति से बोली आज खाने में क्या बनाऊँ ?


एक जानकारी के मुताबिक यहाँ इंटर में वही छात्र नामांकन करा सकते हैं जिन्हें मैट्रिक में 75 % या इससे ज्यादा मार्क्स आये हों। वैसे कुछ विशेष परिस्थितियों में कभी-कभी कम मार्क्स वाले छात्रों को भी एडमिशन मिल जाती है लेकिन फिर भी कमजोर छात्र एडमिशन लेने में लगभग असफल ही रहते हैं। और यही सबसे बड़ी वजह मानी जाती है इसके सफलता की कि जब कॉलेज में कोई कमजोर छात्र होंगे ही नहीं तो मजबूत छात्रों को भला अच्छी रैंकिंग आने से कौन रोक सकता है?




हमारे ये न्यूज़ भी अवश्य पढ़ें: सीबीआई के डर से केजरीवाल के अधिकारियों ने करवाया तबादला

loading…


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *