अगर आप भी मोबाईल में पैटर्न लॉक लगा कर रखते हैं तो ये जरूर पढें।

कृप्या ये पोस्ट पूरा पढें और ज्यादा से ज्यादा शेयर करें।

कुछ दोस्त कार में कहीं जा रहे थे अचानक उनकी कार का एक्सीडेंट हो गया। एक अजनबी मौके पर वहाँ पहुँचा। वो सहायता करना चाहता था लेकिन उसके पास फोन नहीं था। कार में 6 स्मार्टफोन मिले लेकिन सभी पर स्क्रीन लॉक/पैटर्न लॉक था। फोन में लॉक होने के कारण वो पुलिस या एंबुलेंस को फोन नही कर सका, परिणाम ये हुआ कि वो तीनो मारे गए।

एक गर्भवती महिला आँगन में गिर गयी। घर पर मोजूद 7 साल की इकलौती बेटी को कुछ समझ नहीं आया। लेकिन अचानक उसने अपनी माँ को तडपते देखा। बेटी ने पापा को फोन करने के लिए अपनी माँ का फोन उठाया। लेकिन फोन में पासवर्ड/पैटर्न लॉक था जिस कारण वह फोन नही कर पाई और परिणामत: उसकी माँ वही खत्म हो गयी।

इसे भी पढें: स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं तो स्वास्थ्य सम्बन्धी इन सुरक्षा के बारे में जरूर जान लें

ये तो कुछ उदाहरण थे फोन में लॉक लगा होने के कारण हादसे के वक्त मदद न मिल पाने के। आजकल हर कोई अपने मोबाईल में सिक्युरीटी लॉक लगा कर रखता है। कोई पासवर्ड लगाता है तो कोई पैटर्न लॉक लगाता है। कुछ लोग पैटर्न लॉक तो ऐसे लगाते हैं जैसे पूरे देश की सबसे गोपनीय फाइल उन्ही के मोबाईल में रखी हुई हो।

हम पैटर्न लॉक लगाने के वक्त ये सोचते हैं कि अगर मोबाईल चोरी हो गया तो चोर हमारे मोबाईल को यूज नही कर सकेगा। ऐसे लोगों को मैं बताना चाहूँगा कि इन्टर्नेट पर ऐसे-ऐसे टूल्स मौजूद हैं जिनसे बड़े से बड़ा पैटर्न लॉक चुटकियों में तोड़ा जा सकता है।

Mobile Pattern lock

 


इसके अलावा आपके मोबाईल में ही एक सिक्युरीटी टूल है जिससे आप पैटर्न लॉक भूलने पर उसे खुद हीं तोड़ सकते हैं लेकिन ऐसा करने पर आपके मोबाईल मेमोरी में मौजूद डाटा भी डिलीट हो जाएगा। अब आप खुद सोचिए कि जटिल पैटर्न लॉक लगाने के बाद भी आपके मोबाईल का लॉक तोड़ा जा सकता है तो फिर ऐसे लॉक लगाने से क्या फायदा?

इसे भी पढें: बिहार: मैट्रिक के स्टेट टॉपर से बोर्ड ने पूछे थे 40 सवाल, जानिये फिर क्या हुआ

इसलिए मै यही सलाह दूँगा कि आपके फोन से ज्यादा कीमती आपकी जिन्दगी है इसे ऐसे हीं अपने फोन के चक्कर में न गवाएँ। आपका डाटा तो वापस मिल जाएगा लेकिन आपकी जिन्दगी वापस नही मिलेगी। इसलिए अगर आपको लॉक लगाना ही है तो सिर्फ अपने Whats UP, Text Massege, Facebook, Filed इत्यादि पे ही पासवर्ड या लॉक रखें। स्क्रीन लॉक को Disabled रखे और Dialer और कांटेक्ट को Unlock रखे।

Mobile Pattern lock

इसके अलावा आप मोबाईल के सेटिंग्स में जाकर लॉक स्क्रीन पर अपने पैरेंट्स का नम्बर फीड कर दें। इससे इमर्जेंसी के समय कोई भी व्यक्ति जब आपका मोबाईल चेक करेगा तो लॉक होने के बावजूद उसे आपके पैरेंट्स का नम्बर दिख जाएगा और उस नम्बर पर कॉल कर के वो उन्हे आपके बारे में बता सकेगा। लॉक स्क्रीन पर नम्बर सेट करने के लिए उपर दिए गए इमेज को देखिए।

ऐसा करने से शायद आप एक दिन अपनी या अपने प्यारो और चहेतो की जान बचा सको। ध्यान रखें आपके फोन का पासवर्ड आपका डेथ वारंट भी हो सकता है। इस मैसेज को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें जिससे लोगों मे जागरूकता फैले।




इसे भी पढें:

loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *