भगवान श्री हनुमान नहीं हैं ब्रह्मचारी, इन स्थितियों में हो चुका है इनका 3 विवाह

हिन्दू धर्म में जब भी कभी रामायण और भगवान राम की चर्चा होती है तो उनके परम मित्र और भक्त श्री हनुमान की चर्चा जरूर होती है जिसमें उन्हें बाल ब्रह्मचारी बताया जाता है। लोगों की ऐसी मान्यता है कि उन्होंने की शादी नहीं हुयी थी और वे ब्रहमचारी ही रह गए। लेकिन आपको ये बात जानकर बिल्कुल ही हैरानी होगी कि श्री हनुमान ब्रहाम्चारी नहीं थे बल्कि उनकी 3-3 शादियाँ हो चुकी हैं।

इस न्यूज़ को भी पढ़ें: यदि आपके आँगन में भी है तुलसी का पौधा तो जरूर करें ये काम, नहीं होगी कभी पैसों की कमी

जानिये कब और कैसे हुयी थी भगवान हनुमान की पहली शादी

पाराशर संहिता में भगवान श्री हनुमान की पहली शादी का उल्लेख किया गया है जिसमें कहा गया है कि भगवान सूर्यदेव से शिक्षा प्राप्त करने के एवज में श्री हनुमान जी को उनकी पुत्री सुर्वचला से विवाह करना पड़ा था।

हनुमान


कब हुयी थी श्री हनुमान जी की दूसरी और तीसरी शादी

उनके पहले विवाह के बाद एक बार रावण और वरूण देव के युद्ध होने के पश्चात हनुमान जी ने वरुण देव की तरफ से रावण के साथ युद्ध लड़ा था जिसमें उन्होंने रावण के सभी 5 पुत्रों को बंदी बना लिया था। इसके बाद रावण के दुहिता अनंगकुसुमा का विवाह श्री हनुमान के साथ कर दिया गया। लेकिन इसी बीच उनके पराक्रम से देव वरुण भी अत्यंत प्रसन्न हो गए और उन्होंने अपनी पुत्री सत्यवती की शादी भी उनसे कर दिया।

इसे भी पढ़ें: जगन्नाथ पुरी में रथ यात्रा शुरू, जानें रथ यात्रा से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें

3 विवाह के बाद भी हनुमान जी क्यों कहलाते हैं ब्रहमचारी?

हालांकि श्री हनुमान जी ने अपने फर्ज को निभाते हुए 3 विवाह जरूर कर लिया था लेकिन वो विवाह उनकी मजबूरी थी। इसलिए उन्होंने अपनी पत्नियों को सम्मान जरूर दिया लेकिन कभी भी वैवाहिक जीवन का सुख नहीं भोग। उनका सिर्फ-और-सिर्फ एक ही मकसद भगवान श्री राम के चरणों में अपने जीवन को बिताना था। इसके बाद फिर धीरे-धीरे समय बीतता गया और एक दिन आखिरकार उनका ये सपना तब जाकर पूरा हो ही गया जब रावण देवी सीता को हरण करके उन्हें लंका ले गया।



हमारे इन न्यूज़ को भी पढ़ें :-

• महिषासुर मर्दिनी माता कात्यायनी की पूजा विधि, व्रत कथा और मंत्र

• जानिए कैलाश पर्वत पर भगवान शिव के दिखने का वायरल सच

• घर के मंदिर में कभी न करें ये काम, माँ लक्ष्मी नाराज हो जाएंगी


• क्या आप जानते हैं क्यूँ नहीं की जाती है ब्रह्मा जी की पूजा


• नवरात्रि में धारण करें कछुआ अंगूठी, बदल जाएगी आपकी किस्मत

loading…


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *