Hockey: भारतीय महिलाओं ने चीन को हरा कर जीता एशिया कप, विश्वकप 2018 के लिए किया क्वॉलिफाइ

शानदार प्रदर्शन का सिलसिला जारी रखते हुए भारतीय महिला हॉकी टीम ने रविवार को महिला एशिया कप के फाइनल में चीन को 5-4 से हरा दिया। इस जीत के साथ हीं महिला हॉकी टीम ने 13 सालों बाद एशिया कप पर कब्जा जमा लिया। इस जीत के साथ हीं भारतीय टीम ने 2018 में होने वाले विश्व कप हॉकी में खेलने की योग्यता हासिल कर ली है।

पेनाल्टी शूटआउट से हुआ फैसला

पेनाल्टी शूटआउट
Source

बता दें कि भारत ने आखिरी बार 2004 में जापान को 1-0 से हराकर यह खिताब जीता था। काकामिघारा (जापान) में खेले गए फाइनल मुकाबले में भारत ने कड़ा मुकाबला करते हुए निर्धारित समय में चीन के साथ मुकाबला 1-1 से ड्रॉ किया जिसके बाद यह मैच पेनाल्टी शूटआउट में चला गया।

इससे पहले मैच शुरू होने के 25वें मिनट में हीं नवजोत कौर ने गोल कर के भारत को 1-0 की बढत दिला दी थी। भारत ने लंबे समय तक इस बढत को बनाए रखा लेकिन चौथे क्वार्टर में चीन की तियानतियान लुवो ने 47वें मिनट में पेनाल्टी कॉर्नर से गोल करते हुए मुकाबला बराबरी पर ला दिया। इसके बाद दोनों टीमों ने एक-दूसरे को गोल करने का मौका नही दिया।

पेनाल्टी शूटआउट
Source

इसे भी पढें: क्या आप जानते हैं कि टीम इंडिया सिर्फ ब्लू जर्सी हीं क्यूँ पहनती है?

पेनाल्टी शूटआउट में दोनों टीमों को पांच-पांच मौके मिले जिसमे दोनो टीमें अपने एक-एक मौको को गंवा कर 4-4 की बराबरी पर थी। ऐसे में सडेन डेथ का अयोजन किया गया जिसमे भारत की तरफ से विजय रानी ने पांचवा गोल कर के भारत को चैंपियन बना दिया। अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ ने एक बयान जारी कर भारत के विश्वकप में क्वालीफाई करने की पुष्टि की है।

इससे पहले सेमीफाइनल में गुरजीत कौर की हैट-ट्रिक के साथ ही कजाकिस्तान को मात देकर भारतीय महिला हॉकी टीम ने एशिया कप टूर्नमेंट-2017 के सेमीफाइनल में जगह बनाई थी।

इसे भी पढें:

loading…

One comment

Leave a Reply