बिना वॉरंट के पुलिस आपके घर में नहीं घुस सकती, जानिए अपने कानूनी अधिकार

आमतौर पर घर के दरवाजे पर पुलिस को देखते हीं ज्यादातर लोग घबरा जाते हैं। उन्हे समझ में नहीं आता है कि उस वक्त क्या करना चाहिए। ऐसे में कई ऐसी गलतियां कर बैठते हैं जो उन्हे नहीं करनी चाहिए। ऐसे में शक के आधार पर पुलिस उन्हे गिरफ्तार भी कर लेती है। हमारे देश के संविधान ने हमें कई कानूनी अधिकार दिए है जिसके तहत हम पुलिस को अपने घर में घुसने से भी रोक सकते हैं। आइए जानते हैं ऐसे हीं कानूनी अधिकारों के बारे में।

कानूनी अधिकार
Source

1) पुलिस आपके घर में बिना परमिशन के नहीं घुस सकती है। यदि पुलिस आपके घर की तलाशी लेना चाहती है तो उसे जज का साइन किया हुआ वॉरंट दिखाना होगा।

2) इमर्जेंसी केस में पुलिस को बिना वॉरंट के अन्दर घुसने की इजाजत होती है जैसे जब पुलिस किसी का पीछा कर रही हो और वो किसी घर में छुप गया हो।

3) अगर पुलिस आपको गिरफ्तार करती है तो आप अपने नाम और एड्रेस के अलावा बाकी डिटेल बताने से मना कर सकते हैं।

4) यदि आपके पास वकील नियुक्त करने के लिए पैसे नहीं हैं तो आप फ्री में लीगल एड ले सकते हैं। यहाँ तक कि आप खुद पुलिस से भी पूछ सकते हैं कि फ्री लीगल एड कैसे लें।

इसे भी पढें: अनमैरिड कपल भी रह सकते हैं साथ में, जानें अपने अधिकार से जुड़ी 6 बातें

5) अगर पुलिस ने आपको गिरफ्तार कर लिया है तो भी आपके पास कुछ समय तक लोकल फोन कॉल करने का अधिकार होता है। आप अपने वकील या रिश्तेदारों को कॉल कर सकते हैं।

6) यदि आपके बच्चे 18 साल से कम उम्र के हैं तो आप उनकी सुरक्षा इंतजाम के लिए भी कॉल कर सकते हैं।

7) किसी पर गैरकानूनी गतिविधियों में लिप्त होने का आरोप है, कुछ सामान चुराने का आरोप है, घर में अवैध हथियार रखने जैसे आरोप हैं तो उन्हें पहले मजिस्ट्रेट का वारंट दिखाना होगा। इसके बाद ही पुलिस घर में एंटर हो सकती है।

8) किसी केस से रिलेटेड पूछताछ करनी है तो पुलिस आपके बुलाने पर ही घर में आ सकती है।

9) अगर आप महिला हैं तो और अकेली रहती हैं तो बिना लेडी पुलिस के पुलिस आपके घर में एंटर नहीं कर सकती है। यहाँ तक कि आपको गिरफ्तार करने के लिए भी लेडी पुलिस का होना जरूरी है।

10) शाम 7 बजे के बाद और सुबह 7 बजे के पहले तक पुलिस किसी महिला को गिरफ्तार नहीं कर सकती है।

इसे भी पढें:

Leave a Reply