मौत कर रही थी आखिरी तस्वीर का इंतज़ार, सेल्फी लेते हीं बन गए मौत के शिकार


आजकल लोगों में Selfie लेने का शौक सर चढ कर बोल रहा है। किसी पार्टी में जाना हो या कहीं घूमने जाना हो, अगर रास्ते में कोई अच्छी से चीज दिख गई तो लोग वहाँ रूक कर सेल्फी जरूर लेते हैं। सेल्फी यानी खुद की फोटो खींचना। भारत ही नहीं पूरे विश्व में इसके प्रति लोगों की दीवानगी बढ़ी है लेकिन युवाओं में इसका क्रेज सर चढ़कर बोलता है। युवाओं के अलावा शायद ही कोई ऐसा वर्ग होगा जो इसके क्रेज से अछूता हो। एक अनुमान के मुताबिक पूरी दुनिया में प्रतिदिन लगभग 94 मिलियन यानि 9 करोड़ 40 लाख सेल्फी ली जाती है।


Selfie
Source

सेल्फी लेने के बाद उसे सोशल मीडिया पर अपलोड करने का क्रेज भी दिनों-दिन बढ़ता जा रहा है। एक तरह से कहा जाए तो इन दिनों सेल्फी लेने का जुनून लोगों के सिर चढ़कर बोल रहा है। युवा तो अपनी जान की परवाह किए बगैर ऐसी जगहों पर सेल्फी लेने का जोखिम उठा रहे हैं, जहाँ मौत उनके बेहद करीब होती है। सेल्फी का क्रेज दरअसल एक जानलेवा एडवेंचर साबित हो रहा है जहां मौज-मस्ती की चाह और कुछ नया कर गुजरने ख्वाहिश रखनेवाले (ज्यादातर युवाओं) को जान से हाथ धोना पड़ता है या अन्य दुर्घटना का शिकार होना पड़ता है।


Selfie



एक बार फिर सेल्फी के चक्कर में एक दुर्घटना हुई है और इस दुर्घटना में शादीशुदा कपल को अपने बच्चों के सामने हीं अपनी जान गंवानी पड़ी है। सेल्फी का यह शौक उस कपल के बच्चों को अनाथ बना गया।

यह घटना पुर्तगाल के काबो दा रोका शहर की है यह एक टूरिस्ट स्पॉट है। यहां की खूबसूरती देखने के लिए हर साल काफी संख्या में पर्यटक आते हैं और सेल्फी भी लेते हैं। कुछ समय पहले पोलैंड के रहने वाला एक कपल यहां घूमने आए थे। दोनों मस्ती करते हुए सेल्फी ले रहे थे तभी उनका पैर फिसल गया और करीब 100 मीटर नीचे गहरे खाई में गिरने से उनकी मौत हो गई।



Selfie

हालांकि बताया जाता है कि यह घटना साल 2014 की है और जिस वक्त यह घटना घटी उस वक्त उनके दोनों बच्चे भी वहां मौजूद थे। इस तरह से जरा सी खुशी के चक्कर में एक और कीमती जिन्दगी इस दुनिया से खत्म हो गई। इसलिए अगर आप लोग भी ऐसे हीं एडवेंचरस सेल्फी के दीवाने हैं तो अगली बार संभल कर सेल्फी लीजिएगा।

इसे भी पढें:



loading…



Leave a Reply