दर्द भरी शायरी Dard Bhari Shayari हिन्दी शेरों शायरी

मोहब्बत में हर किसी को वफा नही मिलती है। कई ऐसे लोग हैं जिनकी मोहब्बत उन्हे छोड़ कर चली जाती है। ऐसे लोग अपने प्यार को याद करते हुए शायर बन जाते हैं और दर्द भरी शायरी लिख डालते हैं। ऐसे हीं कुछ दर्द भरी शायरी को यहाँ हमने आपके सामने प्रस्तुत करने की कोशिश की है।


दर्द भरी शायरी
Source

कागज़ पे हमने भी ज़िन्दगी लिख दी,
अश्क से सींच कर उनकी खुशी लिख दी,
दर्द जब हमने उबारा लफ्जों पे,
लोगों ने कहा वाह क्या गजल लिख दी।



यूँ तो हर एक दिल में दर्द नया होता है,
बस बयान करने का अंदाज़ जुदा होता है,
कुछ लोग आँखों से दर्द को बहा लेते हैं
और किसी की हँसी में भी दर्द छुपा होता है।


दर्द भरी शायरी
Source

मेरे इस दर्द की वजह भी वो हैं,
और मेरे दर्द की दवा भी तो वो हैं,
वो नमक ज़ख्मों पे लगाते हैं तो क्या,
मोहब्बत करने की वजह भी तो वो हैं।


बोलती है दोस्ती, चुप रहता है प्यार,
हंसाती है दोस्ती, रुलाता है प्यार,
मिलाती है दोस्ती, जुदा करता है प्यार,
फिर क्यों दोस्ती छोड़कर लोग करते है प्यार!!


इसे भी पढें: Good Morning मैसेज और वॉलपेपर कलेक्शन हिन्दी और इंग्लिश में


दर्द भरी शायरी
Source

एक नया दर्द मेरे दिल में जगा कर चला गया,
कल फिर वो मेरे शहर में आकर चला गया,
जिसे ढूंढते रहे हम लोगों की भीड़ में,
मुझसे वो अपने आप को छुपा कर चला गया।



हँसते हुए ज़ख्मों को भुलाने लगे हैं हम,
हर दर्द के निशान मिटाने लगे हैं हम,
अब और कोई ज़ुल्म सताएगा क्या भला,
ज़ुल्मों सितम को अब तो सताने लगे हैं हम।


दर्द भरी शायरी
Source

जो नजर से गुजर जाया करते हैं,
वो सितारे अक्सर टूट जाया करते हैं,
कुछ लोग दर्द को जाहिर नहीं होने देते,
बस चुपचाप बिखर जाया करते हैं।


प्यार की भाषा मैने कभी समझी नही,
अहसासों को लफ्जों में कभी पिरोया नहीं,
पता हीं नही था वो शब्दों का इंतजार कर रहे थे,
हम आँखों से बोलते रहे वो पत्थर दिल समझ हमे छोड़ गए।


इसे भी पढें: क्या आपका पार्टनर भी आपको इग्नोर कर रहा है, तो इसे जरूर पढें


दर्द भरी शायरी
Source

मुझे समझने का दौर कभी क्यूँ नही होता
मुझसा मजबूर कभी तू क्यूँ नहीं होता
क्या फ़र्क़ है तेरी वफ़ा और मेरी वफ़ा में
मुझे बेहिसाब हो तुझे दर्द क्यूँ नहीं होता!!



कोरे कागज पर हमने अपनी कहानी लिख दी,
मिला जो दुनिया से हमें, उससे हमने शायरी लिख दी,
फिर क्यों आँखों के आसुओं में तेरी कमी है दिखती,
और मेरे जिंदगी की किताब पर तेरे एहसास की निशानी दिखती!!


दर्द भरी शायरी
Source

ना जाने क्यूँ नज़र लगी ज़माने की,
अब वजह मिलती नहीं मुस्कुराने की,
तुम्हारा गुस्सा होना तो जायज़ था,
हमारी आदत छूट गयी मनाने की!!


तक़दीर के आईने में मेरी तस्वीर खो गई,
आज हमेशा के लिए मेरी रूह सो गई,
मोहब्बत करके क्या पाया मैंने,
वो कल मेरी थी आज किसी और की हो गई!!


इसे भी पढें:

loading…

Leave a Reply