मैट्रिक में यदि आपके बच्चे भी हुए हैं असफल तो इस न्यूज़ को जरूर पढ़ें

बहुत ही जद्दोजहद के बाद बिहार बोर्ड के मैट्रिक का रिजल्ट आखिरकार आज जारी कर ही दिया गया है। हालांकि इंटर की तुलना में मैट्रिक के रिजल्ट का प्रदर्शन बहुत ही अच्छा रहा है लेकिन फिर भी लगभग आधे स्टूडेंट्स को इसमें भी असफलता का मुंह देखना पड़ा है। ऐसे में बहुत सारे स्टूडेंट्स को मानसिक अवसाद का सामना करना पड़ सकता है। कई सारे स्टूडेंट्स होंगे जो फेल होने या फिर अच्छा ग्रेड न मिलने की वजह से तनाव में आ सकते हैं और कोई गलत कदम भी उठा सकते हैं।


मैट्रिक में असफल स्टूडेंट्स के अभिभावक इस तरह से निभाएं अपने कर्तव्य को

दुर्भाग्य से यदि आपके बच्चे के साथ भी ऐसी ही कोई बात हो और आपका बच्चा अच्छा प्रदर्शन न कर सका हो तो ऐसे में आपका पहला कर्त्तव्य ये बनता है कि सबसे पहले आप अपने बच्चे को कोई भी गलत कदम उठाने से पहले ही उन्हें संभाल लें। उनसे किसी भी तरह से कठोरता से पेश न आयें और उन्हें इस बात का यकीन दिलाएं कि आपको उनसे कोई शिकायत नहीं है।

Reaction of father after result
Image Source :- Google

यदि आप अपने बच्चे के साथ किसी भी तरह से कठोरता से पेश आयेंगे तो उसके गलत कदम उठाने की संभावना बढ़ जाएगी और ऐसे में आप सिर्फ एक मैट्रिक के रिजल्ट के चक्कर में अपने बच्चे को सदा के लिए भी खो सकते हैं। इसलिए संयम से काम लें और अपने बच्चे से इस तरह से नॉर्मल तरीके से पेश आयें जैसे कि कुछ हुआ ही न हो क्योंकि हमेशा से असफल छात्रों के गलत कदम उठाने के सबसे बड़ी वजह उनके अभिभावक के कठोरता से पेश आना ही साबित हुआ है।

इसे भी पढ़ें: अपने बच्चों के साथ कठोरता से पेश आना किस हद तक सही है?

उन्हें असफल होने की बात बताने की बजाये उन्हें ये बताएं कि लगभग आधे बच्चे फेल हुए हैं और वो कोई गलत कदम नहीं उठा रहे हैं तो तू क्यों उठाये? यदि आपके बच्चे को लगेगा कि आप उनके साथ हैं तो यकीन मानिए कि वो कोई भी गलत कदम नहीं उठाएंगे और अगली बार पूरी मेहनत से पढाई करके अच्छे रैंक पर जरूर आयेंगे।

How to react after fail in result
Image Source :- Google

आपका बच्चा असफल हो गया इससे उनका एक साल भले ही बर्बाद हो गया हो लेकिन इस बात का ध्यान रहे कि उनके बाकी की पूरी जिन्दगी अब आपके ही हाथ है और आपका एक कठोर शब्द उनसे उनकी जिन्दगी को ख़त्म कर देने का कारण बन सकता है। इसलिए ऐसी कोई भी गलती करने से बचें और समझदारी दे काम लेते हुए अपने बच्चे की इस असफलता को भूल जाएँ और उन्हें गिरने के बाद फिर से उठकर अपने लक्ष्य तक पहुँचने की नसीहत दें और उनसे प्यार से पेश आयें।


इन न्यूज़ को भी पढ़ें :-

बिहार बोर्ड के दसवी का रिजल्ट जारी, यहाँ देखें अपना रिजल्ट
विडियो: यह टीचर कपड़े उतारकर पढ़ाती है जीव विज्ञान, कारण जानकर हैरान हो जाएंगे
जानिये BSEB मैट्रिक के रिजल्ट आने में देरी क्यों हो रही है और इसे कब प्रकाशित किया जायेगा?
यदि आपकी भी याददाश्त है कमजोर तो जरूर अपनाएं ये ट्रिक्स
जॉब होने से पहले शादी करना किस हद तक सही है?



loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *