इंदु सरकार पर भंडारकर ने पूछा राहुल गांधी से सवाल- क्या मुझे बोलने की आजादी है?

अपनी आने वाली फिल्म “इंदु सरकार” से विवादों में घिरे मधुर भंडारकर ने रविवार को ट्विटर के जरिये राहुल गांधी से पूछा कि क्या उन्हे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता है या नही? कॉरपोरेट और फैशन जैसी फिल्में देने वाले भंडारकर को अपनी नई फिल्म इंदु सरकार की वजह से कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के विरोध का सामना करना पड़ रहा है।

फिल्म को लेकर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के विरोध के कारण शनिवार को पुणे में होने वाली प्रेस कॉन्फ्रेंस को मधुर भंडारकर ने रद्द कर दिया। उसके बाद उन्होने रविवार को अपने ट्विटर हैंडल से ट्विट कर के कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से पूछा कि क्या वे इस गुंडागिरी की इजाजत देते हैं? क्या मुझे बोलने की आजादी है?


क्या है पूरा मामला?

बता दें कि फिल्म डायरेक्टर मधुर भंडारकर ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा देश में लगाए गए आपातकाल के ऊपर ये फिल्म बनाया है जिसे लेकर कांग्रेस समर्थकों में रोष का माहौल है। जब से इस फिल्म का ट्रेलर लांच हुआ है तब से भंडारकर को कांग्रेसी नेता संजय निरूपम से लगातार धमकियां मिल रही है और अभी कुछ दिन पहले वो जिस होटल में ठहरे थे वहाँ कुछ कांग्रेसी कार्यकर्ता घुस आए और हंगामा करने लगे जिससे मधुर सहित उनकी पूरी टीम अपनी जान बचाने के लिए होटल के एक कमरे में बंद हो गई थी।


इंदु सरकार
Image Source: Justbollywood.in

ये देखना दिलचस्प होगा कि कन्हैया कुमार और खालिद जैसों के देश तोड़क नारों का समर्थन करने वाले और उन्हे अभिव्यक्ति कि स्वतंत्रता बताने वाले राहुल गांधी और उनके पार्टी के दूसरे नेता इस घटना पर क्या कहते हैं। हालांकि अभी तक कांग्रेस के बड़े नेताओं का इस पर कोई बयान नही आया है लेकिन इस बात की बहुत कम उम्मीद है कि कांग्रेसी नेता या राहुल गांधी, मधुर भंडारकर के पक्ष में कोई बयान देंगे या उनकी इस फिल्म को लेकर अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का समर्थन करेंगे। बहरहाल जो भी हो लेकिन इतना तो तय है कि फिल्म “इंदु सरकार” के विरोध के कारण इसे फ्री में हीं पब्लिसिटी मिल रही है और भंडारकर को इसके प्रोमोशन के लिए ज्यादा पैसे खर्च की जरूरत नही पड़ेगी।

इसे भी पढें:

loading…


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *