1 जुलाई से जरूरी होगा आधार कार्ड, बैंक खातों और पैन कार्ड बनवाने के लिए देना होगा आधार नम्बर


केन्द्र सरकार के आदेशानुसार अब 1 जूलाई से पैन कार्ड बनवाने में आधार नम्बर जरूरी हो जाएगा। पैन कार्ड बनवाते वक्त इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को आधार नम्बर बताना जरूरी होगा। अगर आपके पास आधार कार्ड नही है तो आप सरकारी योजनाओं का लाभ नही ले पाएंगे। हालांकि अभी जिन लोगों का आधार कार्ड नही बना है उसके लिए सरकार ने आखिरी तारीख 30 जून से बढाकर 30 सितंबर कर दिया है।

इसके साथ हीं सरकार ने आयकर नियमों में संशोधन कर के आधार को पैन से जोड़ना अनिवार्य कर दिया है। अगर आपके पास आधार और पैन कार्ड है तो इनकम टैक्स की वेबसाईट पर जाकर उसे जल्दी से जल्दी लिंक कर लें। अगर आपके पास पैन कार्ड नही है और सिर्फ आधार कार्ड है तो 1 जूलाई से पैन कार्ड बनवाने के लिए आवेदन करने पर आपको आधार नम्बर या एनरॉलमेंट नम्बर देना जरूरी होगा।

इसे भी पढें: जीएसटी क्या है और इसके क्या फायदे हैं?

इसके पहले सरकार के इस आदेश पर रोक लगाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल गई थी लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने इस पर रोक लगाने से इंकार कर दिया है। केन्द्र सरकार ने आधार संबंधित कानून पास कर दिया है जिस कारण इसे सुप्रीम कोर्ट ने गैर-कानूनी आदेश मानने से भी इंकार कर दिया।

करना होगा बैंक अकाउंट को भी लिंक

Aadhar Card mandatory for PAN
Image Source: Zee News

केन्द्र सरकार ने बहुत पहले से हीं आधार नम्बर को बैंक अकाउंट्स से लिंक करने का आदेश दे रखा है और इस आदेश पर बैंक ने अमल करना शुरू भी कर दिया है लेकिन इसकी रफ्तार धीमी होने के कारण सरकार ने सख्ती दिखाते हुए नया आदेश जारी किया है। नए आदेश के तहत सभी बैंक खातों को 31 दिसंबर तक आधार से लिंक करने होंगे। ऐसा नही करने पर 31 दिसंबर के बाद उन बैंक खातों की फ्रीज कर दिया जाएगा यानि अस्थायी तौर पर उसमे ट्रांजैक्शन पर रोक लगा दी जाएगी।



बैंक खातों को आधार से लिंक करने के पीछे सरकार की दलील है कि इससे टैक्स की चोरी रूकेगी। केन्द्र सरकार ने ये भी दावा किया है कि एलपीजी और मनरेगा जैसी योजनाओं के लाभार्थियों को आधार और बैंक अकाउंट से जोड़ने से फर्जी लाभुकों का पर्दाफाश हुआ है और इससे सरकार ने हजारों करोड़ की सब्सिडी बचाई है।

इसे भी पढें: विश्व योग दिवस: पीएम ने किया योग, कहा फ्री हेल्थ इंश्योरेंस है योग

अफवाहें और हकीकत

Aadhar Card mandatory for PAN
Image Source: Zee News

सरकार जब भी कोई आदेश जारी करती है तो उसको लेकर सोशल मीडिया पर जम कर अफवाहें फैलायी जाती हैं। उन अफवाहों की सच्चाई जाने बिना ज्यादातर लोग सच मान लेते हैं। ऐसा हीं कुछ इस बार भी हो रहा है। सोशल मीडिया पर फर्जी आईडी के जरिये यह अफवाह फैलाई जा रही है कि अगर आपने बैंक अकाउंट को आधार से लिंक किया तो सरकार आपके अकाउंट पर कब्जा जमा लेगी और जब चाहे तब आपका अकाउंट चेक कर सकती है या बंद कर सकती है। ऐसे लोगों से मै यही कहूँगा कि जब आप बैंक में अकाउंट खुलवाते हैं तभी से सरकार और इनकम टैक्स की नजर में आप और आपका बैंक अकाउंट आ जाता है और सरकार को आपका बैंक अकाउंट बन्द करने के लिए किसी आधार नम्बर की जरूरत नही है।



इसे भी पढें: SBI के नए नियम आज से लागू, जानें किस सर्विस पर कितना चार्ज देना होगा

असल में ऐसे झूठ फैलाने वाले लोगों को इस बात की चिंता है कि एक से ज्यादा पैन के जरिए खोले गए कई सारे बैंक अकाउंट आधार से लिंक होते हीं सरकार की नजर में आ जाएंगे और उनकि चोरी पकड़ी जाएगी। इसलिए ऐसे लोग हीं इस योजना का सबसे ज्यादा विरोध कर रहे हैं। इसके अलावा डाटा की सुरक्षा का मामला भी उठाया जा रहा है जो सही है लेकिन जब इन्टर्नेट पर मौजूद कोई भी डाटा सुरक्षित नही है यहाँ तक कि आपके फोन में मौजूद डाटा भी सुरक्षित नही है लेकिन इसके लिए तो किसी ने आवाज नही उठाए तो ऐसे में सिर्फ सुरक्षा कारणों से इस योजना का विरोध करना समझ से परे है।

इसे भी पढें:


loading…



Leave a Reply