Statue of Unity के बारे मे जानिए 10 महत्वपूर्ण फैक्ट्स

Download Our Android App by Clicking on 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा ‘Statue of Unity’ को देश को समर्पित कर दिया है। लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की इस प्रतिमा का अनावरण उनकी 143वीं जयंती पर किया गया। यह प्रतिमा 182 मीटर ऊंची है जो कि अमेरिका की ‘स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी’ से दोगुना ऊंची है। आइए जानते हैं स्टैच्यू ऑफ़ यूनिटी से सम्बंधित कुछ महत्वपूर्ण बातें।

Statue Of Unity

Statue of Unity
Source

1) Statue of Unity क्या है?

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी भारत के प्रथम गृहमन्त्री वल्लभभाई पटेल को समर्पित एक स्मारक है जिन्होंने 562 रियासतों में बंटे इस देश को एक कर के नया भारत बनाया।


2) स्टैच्यू ऑफ़ यूनिटी को कहाँ स्थापित किया गया है?

इसे भारत के गुजरात में सरदार सरोवर बाँध से 3.2 किमी दूर नर्मदा नदी में एक टापू पर स्थापित किया गया है। इस टापू का नाम साधू बेट है।

3) स्टैच्यू ऑफ़ यूनिटी की ऊंचाई कितनी है?

Statue of Unity

इस मूर्ति की ऊंचाई 182 मीटर (597 फीट) है। यह दुनिया की सबसे ऊँची मूर्ति भी है। इसके अलावा इसके पैर की ऊंचाई 80 फीट, हाथ की ऊंचाई 70 फीट, कंधे की ऊंचाई 140 फीट और चेहरे की ऊंचाई 70 फीट है.

4) सरदार पटेल की इस मूर्ति को बनाने में कुल कितना खर्च आया है?

स्टैच्यू ऑफ़ यूनिटी को बनाने में करीब 3000 करोड़ रूपए का खर्च आया है।

इसे भी पढ़ें : क्या है Green पटाखा, जानिए यहां सब कुछ

5) Statue Of Unity का निर्माण कब शुरू हुआ और कब ख़त्म हुआ?

Statue Of Unity
Source

सरदार पटेल की मूर्ति से सम्बंधित निर्माण कार्य 31 अक्टूबर 2013 को प्रारम्भ हुआ था और अक्टूबर 2018 के मध्य में बन कर तैयार हो गया। वहीं मूर्ति का असल काम सिर्फ 33 महीने में ही पूरा कर लिया गया।

6) स्टैच्यू ऑफ़ यूनिटी का वजन कितना है?

स्टैच्यू ऑफ़ यूनिटी का कुल वजन 1700 टन है।

7) स्टैच्यू ऑफ़ यूनिटी का निर्माण किस कंपनी ने किया है?

Statue of Unity का निर्माण भारतीय कंपनी लार्सन एंड ट्रुबो ने किया है। इस मूर्ति को बनाने में 250 इंजीनियर और 3,400 मजदूरों की मदद ली गई। आंशिक कार्यों को छोड़ दें तो इस मूर्ति का सारा निर्माण भारत में ही किया गया है।

8) स्टैच्यू ऑफ़ यूनिटी के मुख्य शिल्पकार कौन हैं?

इस मूर्ति के मुख्य शिल्पकार 92 वर्षीय राम वी. सुतार हैं। सुतार अपनी बेहतरीन कला-कृति के निर्माण के लिए देश-विदेश में प्रसिद्ध हैं। उन्हें 1999 में पद्मश्री और 2016 में पद्मभूषण से भी सम्मानित किया जा चुका है।

9) स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को देखने के लिए भारतीय नागरिकों को कितना खर्च करना पड़ेगा?

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को देखने के लिए भारतीय नागरिक को 350 रुपये खर्च करने पड़ेंगे साथ ही अगर परिसर में बस की सुविधा लेते हैं तो 30 रुपये और देने पड़ेंगे। (गुजरात सरकार द्वारा निर्धारित वर्तमान शुल्क)

10) कितने लोग प्रतिदिन स्टेचू ऑफ़ यूनिटी को देख सकेंगे?

एक सर्वे के अनुसार प्रतिदिन Statue of Unity को करीब 10,000 लोग देखेंगे।
लाइक करें हमारे Facebook Page को और इससे संबंधित विडियो देखने के लिए सब्सक्राइब करें हमारे YouTube Channel को।




इसे भी पढ़ें :

loading…



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *